कोविड-19 : केन्द्र ने राजस्थान सहित पांच राज्यों केरल, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में उच्च स्तरीय केन्द्रीय दल भेजने का किया निर्णय

नई दिल्ली । स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने केरल, कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में उच्च स्तरीय केन्द्रीय दल भेजे हैं। इन राज्यों में हाल के दिनों में नए कोविड मामलों की संख्या में वृद्धि होने की सूचना प्राप्त हो रही है।

प्रत्येक दल में एक संयुक्त सचिव (संबंधित राज्य के नोडल अधिकारी), सार्वजनिक स्वास्थ्य पहलुओं की देखभाल करने के लिए एक सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ, राज्य द्वारा अनुपालन की जा रही रोकथाम प्रक्रियाओं और नैदानिक प्रबंधन की देखभाल के लिए एक निपुण निदान विशेषज्ञ शामिल किए गए हैं। ये दल पॉजिटिव मामलों की कंटेनमेंट, निगरानी, परीक्षण, संक्रमण की रोकथाम, नियंत्रण उपाए और कुशल नैदानिक प्रबंधन को मजबूत बनाने में राज्यों के प्रयासों में सहायता प्रदान करेंगे।

कोविड के प्रबंधन के लिए विभिन्न राज्यों/ केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रयासों को मजबूत करने के चल रहे प्रयासों के रूप में केन्द्र सरकार समय-समय पर विभिन्न राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों का दौरा करने के लिए केन्द्रीय दलों को नियुक्त करती रही है। यह दल राज्य/केन्द्र शासित प्रदेशों के अधिकारियों के साथ बातचीत करते हैं और उनके सामने आ रही चुनौतियों और मुद्दों की जानकारी प्राप्त करते हैं, ताकि उनकी चल रही गतिविधियों को मजबूत किया जा सके और अगर कुछ अड़चने हैं तो उन्हें भी दूर किया जा सके।

ये केन्द्रीय दल समय पर निदान और अनुवर्ती कार्यवाही से संबंधित प्रभावी प्रबंधन और चुनौतियों के बारे में मार्गदर्शन करेंगे। केरल में कोविड के कुल मामलों की 3,17,929 हैं जो कुल मामलों का 4.3 प्रतिशत हैं। इस प्रकार प्रति दस लाख व्यक्ति मामलों की संख्या 8906 है। ठीक हुए रोगियों की कुल संख्या 2,22,231 हैं, जो रिकवरी दर की 69.90 प्रतिशत है। सक्रिय मामले 94,609 हैं (जो कुल राष्ट्रीय आंकड़े का 11.8 प्रतिशत हैं)। राज्य में कुल हुई मौत की संख्या 1089 है जो मामला मृत्यु दर की 0.34 प्रतिशत है और राज्य में प्रति दस लाख आबादी पर 31 मौत हुई हैं। इस प्रकार केरल का टीपीएम 53518 और पॉजिटिविटी दर 16.6 प्रतिशत है।

कर्नाटक में कुल मामलों की संख्या 7,43,848 है जो राष्ट्रीय आंकड़ों की 10.1 प्रतिशत है। यहां प्रति दस लाख आबादी पर मामलों की संख्या 11,010 हैं। राज्य में 6,20,008 मरीज ठीक हुए हैं जिससे रिकवरी दर 83.35 प्रतिशत हुई है। सक्रिय मामलों की संख्या 1,13,557 (राष्ट्रीय आंकड़ों का 14.1 प्रतिशत) हैं। राज्य में कुल 10,283 लोगों ने जान गवाई है, जो सीएफआर की 1.38 प्रतिशत और प्रति दस लाख आबादी पर 152 मौत हुई हैं। टीपीएम 95674 है और पॉजिटिविटी दर 11.5 प्रतिशत है।

राजस्थान में कुल मामलों की संख्या 1,67,279 हैं इसका कुल राष्ट्रीय आंकड़ों में 2.3 प्रतिशत हिस्सा हैं। राज्य में प्रति दस लाख की आबादी पर 2,064 मामले है। राजस्थान में 1,43,984 मरीज ठीक हुए है। इस प्रकार रिकवरी दर 86.07 प्रतिशत रही है। आज तक सक्रिय मामलों की संख्या 21,587 (राष्ट्रीय संख्या में 2.7 हिस्सेदारी) है। राज्य में 1,708 मौत हुई हैं। मामला मृत्यु दर 1.02 प्रतिशत है और प्रति दस लाख आबादी पर 21 लोगों की मौत हुई हैं। टीपीएम 38,605 रहा है और पॉजिटिविटी दर 5.3 प्रतिशत है।

पश्चिम बंगाल में कुल मामलों की संख्या 3,09,417 (राष्ट्रीय मामलों की 4.2 प्रतिशत) है। यह प्रति दस लाख आबादी पर 3,106 है। राज्य में 2,71,563 मरीज ठीक हुए हैं और रिकवरी दर 87.77 प्रतिशत है। राज्य में सक्रिय मामले 31,984 हैं इस प्रकार कुल आंकड़ों में राज्य का हिस्सा 4.0 प्रतिशत है। यहां 5,870 लोगों की मौत हुई है तथा मामला मत्यु दर 1.90 प्रतिशत है, जबकि प्रति दस लाख आबादी पर 59 हुई है। टीपीएम 37,872 है जबकि पॉजिटिविटी रेट 8.2 प्रतिशत है।

छत्तीसगढ़ में कुल मामलों की संख्या 1,53,515 (कुल मामलों में राज्य की हिस्सेदारी 2.1 प्रतिशत) है। इस प्रकार प्रति दस लाख आबादी पर मामलों की संख्या 5,215 है। राज्य में कुल 1,23,943 ठीक हुए है। इस प्रकार रिकवरी दर 80.74 प्रतिशत रही है। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 28,187 हैं, जो राष्ट्रीय आंकड़ों की 3.5 प्रतिशत है। राज्य में कुल 1385 मौतें हुई हैं और मामला मृत्यु दर 0.90 प्रतिशत है तथा प्रति दस लाख आबादी पर 47 लोगों की जान गई है। टीपीएम 50191 और पॉजिटिविटी रेट 10.4 प्रतिशत है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

इसे भी देखें