कोरोना से जंग जीतने के बाद, कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए अपना प्लाज्मा डोनेट करना चाहती हैं कनिका, घर पहुंची डॉक्टर्स की टीम

    31

    लखनऊ। बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर लगातार चर्चा में है। कनिका विदेश से लौटी थी और उन्होंने अपने कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी किसी को नहीं दी थी। वह लतागार इवेंट और पार्टी करती रहीं। विदेश से लौटने के 12 दिन बाद वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई। कनिका कपूर की चारों तरफ से आलोचना हुई। कनिका कपूर काफी समय तक इंडिया टुडे के अनुसार, किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU), लखनऊ के डॉक्टरों की एक टीम कनिका के रक्त का परीक्षण करेगी ताकि यह पता लगाया जा सके कि उसके प्लाज्मा कोविड- 19 रोगियों के लिए उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जाना है या नहीं।

    यह माना जाता है कि बचे हुए प्लाज्मा में एंटीबॉडी होते हैं। अभिनेता जोआ मोरानी, जो अपने पिता करीम मोरानी और बहन शाज़ा मोरानी के साथ हैं, ने भी वायरस से बरामद किया था, उन्होंने यह भी घोषणा की थी कि वह प्लाज्मा दान नहीं करते हैं। लखनऊ के पीजीआई में एडमिट रही। कनिका के लगातार पांच टेस्ट कोरोना पॉजिटिव आये थे। लंबे समय बाद कनिका ने कोरोना से मुक्ति पाई। घर आने के बाद अब कोनिका कपूर ने अपना प्लाज्मा डोनेट करने की इच्छा जाहिर की है। इंडिया टुडे के अनुसार, किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) लखनऊ के डॉक्टरों की एक टीम कनिका के रक्त का परीक्षण करेगी ताकि यह पता लगाया जा सके कि उसके प्लाज्मा कोविड- 19 रोगियों के लिए उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जाना है या नहीं।

    यह माना जाता है कि बचे हुए प्लाज्मा में एंटीबॉडी होते हैं। जिसके कोरोना के मरीजो का बचाव किया जा सकता है। डॉक्टर परीक्षण के लिए एक नमूना एकत्र करने के लिए उसके घर जाएंगे, और गायिका इस महीने की 28 या 29 तारीख को एक बार सफाई के बाद प्लाज्मा दान करेगी। उन्हें 6 अप्रैल को संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (PGIMS) से छुट्टी दे दी गई थी।

    प्रातिक्रिया दे

    आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

    इसे भी देखें