मध्यप्रदेश ख़ुशियों का प्रदेश है, हम यहाँ ख़ुशियों पर कभी प्रतिबंध नहीं लगाते, आप भगवान राम के अयोध्या लौटने की ख़ुशी मनाये, पटाखे जलाये एवं धूम-धाम से दिवाली मनाये! : CM शिवराज सिंह

न्यूज़ डेस्क। त्योहार नज़दीक आते ही विभिन्न सरकारों ने तात्कालिक जागरूकता दिखते हुए पटाखों पर पाबंदी लगा दी। इसके विपरीत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि उनके राज्य में पटाखों पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। एक सोशल मीडिया यूज़र की बात का जवाब देते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के नागरिक पूरे उल्लास और ऊर्जा के साथ त्योहार मना सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने आम जनता से यह भी अनुरोध किया कि इस दिवाली के अवसर पर वह मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की वापसी का भी जश्न मनाएँ।

शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्वीट में लिखा, “मध्य प्रदेश खुशियों का प्रदेश है, यहाँ पर हम खुशियों पर कभी भी किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाते हैं। प्रदेश में पटाखों पर कोई प्रतिबंध नहीं है, हाँ लेकिन चीनी पटाखों पर ज़रूर है। आप भगवान राम के अयोध्या लौटने की ख़ुशी मनाएँ, पटाखे जलाएँ एवं धूमधाम से दिवाली मनाएँ।”

शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि जिन पटाखों पर देवी देवताओं की तस्वीर लगी है, उन्हें प्रतिबंधित किया गया है। यह पूरी तरह हिन्दू समुदाय के लोगों की भावनाओं और आस्था से जुड़ा मसला है क्योंकि इस्तेमाल के बाद इन्हें कूड़े में फेंक दिया जाता है। उस दौरान पटाखे समेत अन्य उत्पादों पर भगवान की तस्वीर लगी रहती है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा किए गए इस ऐलान के बाद सोशल मीडिय पर लोगों पर लोगों ने ख़ुशी जताई प्रतिक्रिया दी। यही नतीजा था कि उन्होंने अपने मुख्यमंत्री के लिए बेहिसाब स्नेह भी जाहिर किया। सोशल मीडिया पर दो वाक्य सबसे ज़्यादा चर्चा में रहे ‘मामा जी रॉक्स’ और ‘वी लव यू मामाजी’।

बीते कुछ दिनों में पटाखों को लेकर देश में काफी चर्चा और विवाद छिड़ा हुआ है जिसके चलते इस बात की काफी ज्यादा माँग उठी की पटाखों पर पाबंदी लगाई जाए। दिवाली साल में एक बार आने वाला त्यौहार है और पूरे देश भर में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है, ऐसे में पटाखों पर लगाए प्रतिबंध को लेकर काफी प्रतिक्रियाएँ भी सामने आई।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तरफ से यह ऐलान ठीक इसके बाद किया गया है जब NGT ने देश के कई शहरों और क्षेत्रों में पटाखों पर रोक और पाबंदी लगाने का आदेश दिया था। इसके पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी ने कहा था कि इस निर्णय की वजह से लाखों का रोज़गार छिन जाएगा और बहुत से लोगों पर इसका सीधा प्रभाव पड़ेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

इसे भी देखें