जिस ट्रक में छिपे थे आतंकी उस पर लिखा था- मौत का कोई समय नहीं होता, मुठभेड़ में सभी मारे गए

न्यूज़ डेस्क। जम्मू जिले के बन टोल प्लाजा पर मारे गए चारों आतंकियों ही नहीं, ट्रक पर लिखे शब्दों की भी अलग कहानी है। ट्रक में छिपे आतंकियों को पता था कि उनकी मौत तय है। जिस ट्रक में आतंकी छिपे थे उसके बंपर पर लिखा था- डैथ कीप्स नो कलैंडर। यह शब्द बड़े अक्षरों में लाल पेंट से लिखे थे। इसका मतलब है- मौत का कोई वक्त नहीं होता। यह कहां, कब और किस जगह आ जाए इसके बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं होती। इस स्लोगन को लिखे पेंट को देखकर लगता है कि यह हाल ही में लिखवाया गया था।

जम्मू के नगरोटा के पास बन टोल प्लाजा पर गुरुवार की सुबह चार आतंकियों को मार गिराया था। ये चारों आतंकी एक ट्रक में छिपकर कश्मीर जा रहे थे। इनके कब्जे से भारी मात्रा में हथियार और गोलाबारूद मिला है। ट्रक चालक फरार है। यह ट्रक कश्मीर में फारूक अहमद तांत्रे के नाम से पंजीकृत है। ऐसा भी माना जा रहा है कि “डैथ कीप्स नो कलैंडर” स्लोगन इसलिए भी लिखाया गया ताकि आतंकी ट्रक को आसानी से पहचान लें। सुरक्षा एजेंसियां इसे आतंकियों के लिए कोड वर्ड के रूप में भी मान रही हैं। ऐसा भी हो सकता है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के हैंडलरों ने कश्मीर में सक्रिय ओवरग्राउंड वर्करों से कहकर यह नारा कोड वर्ड में लिखाया हो।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह पहले ही यह दावा कर चुके हैं कि चारों आतंकियों ने कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर और सांबा सेक्टर से गुरुवार रात को घुसपैठ की थी। अंदेशा जताया जा रहा है कि चारों आतंकी अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगता पठानकोट-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर ट्रक में बैठे हों। इस ट्रक की पहचान आतंकियों ने ट्रक के बंपर में लिखे डैथ कीप्स नो कलैंडर और ट्रक के रजिस्ट्रेशन नंबर को देखकर की हो।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल, विदेश सचिव और खुफिया प्रतिष्ठानों के साथ एक समीक्षा बैठक की, जिसमें चार सशस्त्र संदिग्ध जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी थे। खुफिया सूत्रों से पता चला है कि आतंकवादी मुंबई में 26/11 के आतंकवादी हमले की बरसी पर देश में बड़े पैमाने पर हमले की योजना बना रहे हैं। PM मोदी ने कहा कि हथियारों की बड़ी मात्रा में मौजूदगी बताती है कि हमारे सुरक्षा बलों ने एक बार फिर देश पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में जमीनी स्तर के लोकतांत्रिक अभ्यासों को लक्षित करने के लिए एक नापाक साजिश को हराने में उनकी सतर्कता के लिए सुरक्षा बलों को भी धन्यवाद दिया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

इसे भी देखें