दिल्ली हिंसा में शहीद हुये रतनलाल के परिजनों को केंद्र-दिल्ली सरकार देगी एक-एक करोड़, नौकरी का भी वादा

नई दिल्ली। नार्थ-ईस्ट दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल की मौत हो गई। केंद्र सरकार ने उन्हें शहीद का दर्जा दिया है। साथ ही उनके परिजनों को एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की भी घोषणा की गई है। यह जानकारी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दी है।

दिल्ली विधानसभा में बोलते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी शहीद रतन लाल को एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद और एक व्यक्ति को नौकरी देने की घोषणा की है।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल की मौत विचलित करने वाली है। उन्होंने कानून-व्यवस्था कायम रखने के लिए अपना जान दे दी। वहीं, अरविंद केजरीवाल ने कहा कि रतनलाल के परिवार का ख्याल दिल्ली सरकार रखेगी। उन्होंने विधानसभा में उन्हें एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद और नौकरी देने की घोषणा की।

केजरीवाल ने कहा असमाजिक तत्वों ने दिल्ली में हिंसा फैलाई। दिल्ली की जनता हिंसा नहीं चाहती है। दिल्ली के हिंदू-मुस्लिम कभी लड़ाई नहीं चाहते हैं। यह बाहरी तत्वों का काम है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें