छत्तीसगढ़ की सभ्यता और संस्कृति को बनाए रखने की दिशा में सार्थक प्रयास – गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने आज हरेली पर्व के अवसर पर दुर्ग जिले में ग्राम घुघसी डीह में नव निर्मित आदर्श गौठान सहित 11 गांवों में निर्मित गौठानों का लोकार्पण किया, इनमें ग्राम-निकुम, दमोदा, उमरपोटी, अण्डा, चंदखुरी, रिसामा, माचान्दुर, खम्हरिया, पुरई और कोडिया में निर्मित गौठान सम्मिलित है।

गृह मंत्री श्री साहू ने हरेली पर्व के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम मंे परम्परागत रूप से कृषि यंत्रों की पूजा-अर्चना भी किया, इस अवसर पर श्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के मंशा के अनुरूप छत्तीसगढ़ की सभ्यता और विलुप्त हो रही सांस्कृतिक धरोहर को बनाये रखने हेतु प्रदेश में इतना उत्साह के साथ आम नागरिकों द्वारा हरेली त्यौहार मनाया जा रहा है, हरेली त्यौहार ग्राम वासियों का प्रमुख त्यौहार है इसमें किसान भाई अपने कृषि कार्य में उपयोग आने वाले यंत्रों की पूजा करते है। पुशधन को लोदी खिलाते है और गांव-गांव में स्कूली बच्चों सहित ग्रामीण जनों के बीच विभिन्न खेलों का आयोजन होता है, उन्होंने कहा कि राज्य में पहली बार किसानों की भावना के अनुरूप शासन के सहयोग से हरेली त्यौहार उत्साहपूर्वक मनाया जा रहा है।

श्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की सोच है कि राज्य में आपसी भाई-चारा बना रहें और सद्भावना के साथ राज्य के निवासियों के बीच खुशहाली आये और छत्तीगढ़ की पहचान राष्ट्रीय स्तर पर बनी रहें। राज्य सरकार इसी भावना के साथ सबकी खुशहाली का कार्य कर रही है। गृहमंत्री श्री साहू ने 11 गौठानों के लोकार्पण के अवसर पर सभी 11 गांवों में पांच-पांच लाख रूपये के विकास कार्य कराए जाने की घोषण की।

श्री साहू ने कार्यक्रम में गायों को लोदी खिलाया, और महिला स्व सहायता समूह द्वारा लगाए गए स्टॉलों का निरीक्षण किया। उन्होेंने पौधारोपण करने के पश्चात वर्मी कम्पोस्ट उर्वरक खाद तैयार किए जाने की प्रक्रियाओं का अवलोकन भी किया। श्री साहू ने स्व सहायता समूह के हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र एवं चेक प्रदान किया और मछुआ सहकारी समितियों को जाल वितरित किया। इस कार्यक्रम में स्कूली बच्चों तथा सांस्कृतिक दलों द्वारा खेलकूद और गीत संगीत कार्यक्रम प्रस्तुत किया, जिनकें विजेताओं को गृह मंत्री ने पुरस्कार प्रदान किया।

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष माया वेल चंदन, सभी गांवो के सरपंच जिला प्रशासन के अधिकारियों सहित गणमान्य व्यक्ति एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें