COVID-19 : ओमिक्रॉन के बाद कोरोना के ‘BA.2 वेरिएंट’ ने बढ़ाई टेंशन, जानें क्या हैं इसके लक्षण; खास बातें…

न्यूज़ डेस्क। दुनिया के कई हिस्सों में एक बार फिर कोरोना दस्तक दे रहा है। अबकी बार ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट BA.2 ने चिंता बढ़ा दी है। विशेषज्ञों का मानना है कि Omicron का सब वेरिएंट BA.2 और अधिक संक्रामक है। BA.2 सब वेरिएंट की वजह से पश्चिमी यूरोप में कोरोना के मामलों मे काफी बढ़ोतरी देखी गई है। एक अध्ययन के अनुसार, ओमिक्रॉन का सब-वेरिएंट बीए. 2 तेजी से फैल रहा है। शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर कोई व्यक्ति पहले हल्के लक्षणों (Omicron Subvariant BA.2 Symptoms) के साथ ओमिक्रॉन की चपेट में आ चुका है, तो उसमें बीए. 2 के लिए इम्यूनिटी विकसित नहीं होगी।

क्या है कोरोना का BA.2 वेरिएंट

  • सैन डिएगो स्थित जीनोमिक्स फर्म (Genomics Firm) हेलिक्स BA.2 वेरिएंट पर पैनी नजर रखा है। उसका कहना है कि यह वेरिएंट पहली बार जनवरी की शुरुआत में अमेरिका में आया था। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि शुरुआत में इसे पकड़ना आसान नहीं था, लेकिन हेलिक्स का अनुमान है कि अमेरिका में सभी COVID-19 मामलों में से 50 से 70 प्रतिशत BA.2 के मामले हैं।
  • व्हाइट हाउस के मुख्य चिकित्सा सलाहकार (Chief Medical Advisor) डॉ. एंथनी फौसी ने कहा कि BA.2 ओमिक्रॉन की तुलना में 60 प्रतिशत अधिक संक्राकम है। हालांकि यह अधिक गंभीर नहीं लगता।
  • डॉ. एंथनी फौसी ने कहा, समय पर टीकाकरण और बूस्टर डोज वायरस से होने वाली गंभीर बीमारी को रोकने का सबसे अच्छा साधन हैं। इस ओमिक्रॉन के इस वेरिएंट की वजह से ही चीन और यूरोप के कुछ हिस्सों में पहले से ही COVID-19 मामलों में वृद्धि हुई है।
  • कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि बीए.2 अपने पूर्ववर्ती बीए.1 की तुलना में केवल 30 प्रतिशत अधिक संक्रामक हो सकता है। हालांकि डॉ. फौसी का अनुमान 60 प्रतिशत है। इस वेरिएंट को ‘स्टील्थ ओमिक्रॉन’ कहा जाता है, क्योंकि इसका पता लगाना अधिक कठिन होता है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, BA.2 अपने आनुवंशिक अनुक्रम में BA.1 से काफी अलग है। इसमें स्पाइक प्रोटीन और अन्य प्रोटीन में कुछ अमीनो एसिड का अंतर शामिल हैं। WHO की तरफ से कहा गया है कि शुरुआती आंकड़े बताते हैं कि BA.2 स्वाभाविक रूप से BA.1 की तुलना में अधिक संक्रामक प्रतीत होता है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि कोरोना के बढ़ते मामले सिर्फ चीन या यूरोप तक ही सीमित नहीं रहेंगे, क्योंकि BA.2 वेरिएंट पहले से ही कई देशों में मौजूद है।
  • अब तक हुए अध्ययन के आधार पर इस बात की पुष्टि के लिए पर्याप्त डेटा नहीं है कि BA.2 के कारण ओमिक्रॉन की तुलना में मरीज अधिक बीमार होते हैं। हालांकि Omicron BA.2 से जुड़ी सबसे चिंता की बात यह है कि यह डेल्टा की तुलना में कहीं अधिक तेजी से फैलता है।
  • वैज्ञानिकों और चिकित्सा पेशेवरों ने ओमिक्रॉन के इस स्ट्रेन से जुड़े कुछ सबसे सामान्य लक्षणों (Coronavirus BA.2 Symptoms) की एक लिस्ट तैयार की है। इसके अनुसार, BA.2 संक्रमितों में सिरदर्द, गले में खराश/खरोंच, छींकना, नाक बहना और शरीर में दर्द सबसे ज्यादा देखा जाता है।
  • हालांकि US नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन ने ओमिक्रॉन BA.2 सब-वेरिएंट के दो अतिरिक्त लक्षण पाए हैं, जिनमें चक्कर आना और थकान भी शामिल हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें