कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री श्री मोदी ने देशवासियों को दिए सात मंत्र

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को खत्म हो रहे लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया है। उन्होंने देश में 3 मई तक सभी से लॉकडाउन का पालन करने की बात की। वहीं PM मोदी ने देशवासियों को कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए सात मंत्र भी दिए।

उन्होंने इन सात अपीलों के लिए देशवासियों का साथ मांगा। उन्होंने कहा कि इन सात बातों में आपका साथ ही कोरोना पर विजय प्राप्त करने का मार्ग है। विजयी होने के लिए निष्ठापूर्वक काम करने वाला यह सात काम हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहली बात है कि घर के बुर्जुगों का विशेष ध्यान रखें। जिन्हें पुरानी बीमारी हो, उनकी हमें एक्सट्रा केयर करनी है। बुर्जुगों को कोरोना वायरस से बचाकर रखना है।

दूसरी बात कि हमें लॉकडाउन और सोशल डिस्टैंसिंग की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पॉलन करना होगा। घर में बने फेसकवर या मॉस्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करना होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने तीसरी बात की चर्चा करते हुए आयुष मंत्रालय के उन सुझावों पर अमल करने की मांग की, जिसमें अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए गर्म पानी, काढ़ा आदि पीने के नुस्खे बताए गए हैं।

उन्होंने चौथी बात आरोग्य सेतु को लेकर की। कहा कि कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप जरूर डाउनलोड करें। दूसरों को भी यह ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित किया जाए।

प्रधानमंत्री मोदी ने पांचवीं बात को लेकर कहा कि जितना हो सके गरीब परिवार की देखरेख करें। उनके भोजन का प्रबंध करें।

छठीं बात कि आप अपने व्यवसाय, उद्योग में अपने लोगों के साथ संवेदना करें। किसी को नौकरी से न निकालें।

प्रधानमंत्री मोदी ने सातवीं और आखिरी बात को लेकर कोरोना योद्धाओं का सम्मान करने की अपील की। उन्होने कहा कि देश के कोरोना योद्धाओं, डॉक्टर, नर्स, सफाईकर्मी, पुलिसकर्मी, ऐसे सभी लोगों का हम सम्मान करें। प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन मई तक तक लॉकडाउन के नियमों का पालन करें। जहां रहें वहां रहें सुरक्षित रहें। हम सभी राष्ट्र को जीवंत और जागृत बनाए रखेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें