COVID-19 : इस साल और गंभीर हो सकता है कोरोना, WHO ने दी खतरनाक वेरिएंट की चेतावनी

नई दिल्ली। देश-दुनिया में भले ही कोरोना के केस अब धीरे-धीरे कम हो रहे हैं, लेकिन इसे कोरोना का खात्मा मानना अभी जल्दबादी होगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस साल कोरोना के तीन संभावित खतरों के बारे में आगाह किया है। बुधवार को डब्ल्यूएचओ ने इस साल कोरोना के नए वेरिएंट, अधिक खतरनाक वेरिएंट के साथ हालातों के बेहद खराब होने की चेतावनी दी है।

डब्लूयएचओ ने कहा कि लोगों में अधिक इम्युनिटी बढ़ने के कारण वायरस से होने वाली बीमारी की गंभीरता समय के साथ कम हो जाएगी, लेकिन आने वाले समय में ओमिक्रॉन से भी खतरनाक वेरिएंट सामने आ सकता है। इस प्लान में तीन संभावित स्थिति के बारे में बताया गया है कि कि महामारी का तीसरा साल कैसे समाप्त होगा।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि अब हम जो जानते हैं उसके आधार पर सबसे संभावित स्थिति यह है कि वायरस का विकास जारी है, लेकिन टीकाकरण और संक्रमण के कारण समय से साथ रोग की गंभीरता कम हो जाती है। लेकिन समय-समय पर प्रतिरक्षा में कमी के कारण कोरोना के मामलों और इससे होने वाली मौतों में बढ़ोतरी हो सकती है। इसलिए कमजोर लोगों को कभी-कभी बूस्टर डोज की जरूरत पड़ सकती है।

उन्होंने कहा कि सबसे अच्छी स्थिति में कोरोना के गंभीर वेरिएंट देखने को नहीं मिलेंगे और टीकों के बूस्टर या नए फॉर्मुलेशन की जरूरत नहीं पड़ेगी। वहीं, सबसे खतरनातक स्थिति में अधिक खतरनाक वेरिएंट की उत्पत्ति देखने को मिल सकती है। इस नए खतरे के खिलाफ हमें पहले से टीकाकरण करना होगा। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में वर्तमान टीकों में बदलाव की काफी आवश्यकता होगी और हमें यह भी सुनिश्चित करना होगा कि वह गंभीर बीमारी की चपेट में आने वाले लोगों तक पहुंचें। वहीं डब्ल्यूएचओ की तकनीकी प्रमुख मारिया वान केरखोव ने कहा कि वायरस में अभी काफी ऊर्जा बची है और यह महामारी के तीसरे दिन में प्रवेश करने जा रहा है।

पिछले हफ्ते संगठन को एक लाख से अधिक कोरोना के नए मामलों को 45000 मौतों की जानकारी मिली थी, जिसमें कहा गया था कि नए संक्रमणों की संख्या इससे कहीं अधिक हो सकती है, क्योंकि टेस्टिंग का प्रतिशत गिर गया है। पिछले हफ्ते के अंत में कोरोना महामारी के दौरान 479 कोरोना केस दर्ज किए गए थे, जबकि मौतों का आंकड़ा 6 मिलियन दर्ज किया गया। हालांकि डब्ल्यूएचओ ने कहा कि वास्तविक आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा हो सकता है।

डबल्यूएचओ ने कोरोना से निपटने के लिए एक नवीनतम प्लान जारी किया, जिसमें तैयारी, तत्परता और प्रतिक्रिया का जिक्र किया गया है। संगठन के प्रमुख ट्रेडोस ने कहा कि उम्मीद है कि यह आखिरी प्लान होगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें