आडवाणी-ठाकरे ने आर्टिकल 370 खत्म करने के सरकार के फैसले को “ऐतिहासिक” करार दिया

नई दिल्ली। बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने केन्द्र सरकार की तरफ से जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म करने को लेकर उठाए गए कदम को “ऐतिहासिक” करार दिया। उन्होंने कहा कि यह राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने की दिशा में एक बड़ा कदम है।

बीजेपी के लंबे समय तक अध्यक्ष रहे आडवाणी ने कहा कि आर्टिकल 370 को खत्म करना जनसंघ के समय से ही भारतीय जनता पार्टी की मुख्य विचारधाराओं में से एक रहा है।

आडवाणी ने अपने बयान में कहा- “जम्मू कश्मीर और लद्दाख की शांति, समृद्धि और तरक्की के लिए प्रार्थना करता हूं। इसके साथ ही, एतिहासिक कदम उठाने के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को बधाई देता हूं।”
उन्होंने कहा कि वे सरकार की तरफ से आर्टिकल 370 खत्म करने के फैसले से खुश है और ऐसा मानते हैं कि “राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने की दिशा में यह एक बड़ा कदम है।”

इससे पहले, सोमवार को गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में इस बात की घोषणा की कि जम्मू कश्मीर को विशेष अधिकार देनेवाले आर्टिकल 370 को राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद खत्म कर दिया गया है। इसके साथ ही, राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेश में बांटने का भी बिल पेश किया।

यह सरकार काफी मजबूत है, अब पाकिस्तान पर कब्ज़ा करने का वक्त: ठाकरे

मुंबई। शिवसेना ने जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द करने के मोदी सरकार के फैसले की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस निर्णय से भारत सही मायनों में स्वतंत्र हो गया है। सत्तारूढ़ भाजपा की सहयोगी शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने का सरकार का फैसला दिवंगत बाल ठाकरे और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सपने को पूरा करता है। ठाकरे ने यहां अपने आवास पर पत्रकारों से कहा, ‘‘ मुझे खुशी है कि यह बड़ा सपना साकार हो गया। आज हमारा देश पूरी तरह से स्वतंत्र हो गया।’’ उन्होंने विपक्षी पार्टियों से अपने राजनीतिक मतभेद को परे रखने और भारत की संप्रभुता का समर्थन करने को कहा।

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि अमेरिका जैसे देशों को हमारे मामलों में दखल देने की जरूरत नहीं है। ठाकरे ने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर का मुद्दा भारत का आंतरिक मामला है। हम और ज्यादा पाकिस्तान के कब्जे वाला क्षेत्र नहीं सुनना चाहते हैं। यह पाकिस्तान पर कब्ज़ा करने का वक्त है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग इस फैसले का विरोध करते हैं, उनको देखने के लिए यह सरकार काफी मजबूत है।’’ केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द कर दिया है और जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेश में बांटने के लिए एक अलग विधेयक पेश किया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें