‘चाय पियो कुल्हड़ खा जाओ’, शहडोल के युवाओं का नया स्टार्टअप

भोपाल। आपने कुल्हड़ में चाय पिया होगा लेकिन आपने जिस कुल्हड़ में चाय पिया उसी कप कुल्हड़ को खाते नहीं देखा या सुना होगा। मध्य प्रदेश के शहडोल जिले के एक चाय शॉप में चाय पीने के बाद कप कुल्हड़ लोग खा जाते है। इन दिनों शहडोल की एक चाय दुकान सुर्खियों में बना हुआ है।

ज्ञात हो कि शहडोल निवासी और एक साथ पढ़े दो युवक रिंकू अरोरा और पीयूष कुशवाहा ने एक नया स्टार्टअप शुरू किया है। बिस्किट की बनी कुल्हड़ में वे लोगों को स्पेशल चाय देते हैं। और चाय पीने के बाद लोग उस बिस्किट की बनी कप को खा भी जाते हैं। चाय के साथ कप खाने वाली इस स्पेशल चाय की कीमत 20 रुपए है।

रिंकू ने कहा कि इसे हम एक बड़ा ब्रांड बनाना चाहते है। जानकारी देते हुए रिंकू ने बताया कि ये कुल्हड़ बिसकिट्स से बनाई गई है। उसने कहा कि इससे किसी को भी हानि नही पहुंचेगी और न ही इससे प्रदूषण फैलेगा। उसने आगे कहा कि उसने ये इससे पहले पुणे में देखा था और मन मे आया कि अब अपने शहर में भी इसकी शुरुआत की जाए।

जानकारी मिली है कि इसे वेफर्स कप भी कहा जाता है। इससे कचरा भी नहीं फैलता है। युवक ने बताया कि ये नया कॉन्सेप्ट होने से लोगों को अच्छा भी लग रहा है। और यह ट्रेंड युवाओं का यूनिक कॉन्सेप्ट ‘चाय पियो, कप खा जाओ’ इन दिनों सोशल मीडिया पर भी ट्रेंड कर रहा है। ये भी पता चला है कि सोशल मीडिया पर देखकर लोग दुकान को ढूंढ कर वहां पहुंच रहे हैं।

दरअसल चाय पीने के बाद डिस्पोजल फेंक देते हैं। उससे कचरा फैलता है। और इसके साथ ही प्रदूषण भी होता है। इस वेफर्स कॉन्सेप्ट से ना तो कचरा फैलेगा और ना ही प्रदूषण होगा। युवक ने कहा कि लोग चाय भी पिएंगे और कुल्हड़ भी खा जाते है। जो इन दिनों शहडोल में सोशल मीडिया और लोगों की जुबां पर खूब चर्चाओं में है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें