त्रिपुरा हिंसा के नाम पर महाराष्ट्र के 3 शहरों में मुस्लिम भीड़ का उपद्रव, पुलिस पर पथराव, दुकानों में तोड़फोड़, बच्चों को पीटा

मुंबई। त्रिपुरा में बीते दिनों हुई घटना के विरोध में महाराष्ट्र के नांदेड़, अमरावती और मालेगाँव में आज (नवंबर 12, 2021) मुस्लिम संगठनों ने जमकर विरोध किया। इस बीच जबरन दुकानें बंद करवाई गईं और पुलिस पर भी पथराव हुआ। अब पुलिस मौके पर पहुँचकर मामले की जाँच कर रही है।

अमरावती से एक वीडियो सामने आई है। इस वीडियो में मुस्लिम समूहों के कुछ लोग चौक पर खड़े होकर तिरंगा लेकर नारेबाजी कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर घटना की वीडियो शेयर करते हुए महाराष्ट्र सरकार को कोसा जा रहा है। वीडियो में स्थानीय बता रहे हैं कि 200-250 लोग दुकानों में घुस आए थे और उनके साथ मारपीट कर रहे थे। तस्वीरों में जगह-जगह काँच बिखरे टूटे पड़े है। लोग डर से दुकानों के शटर बंद करके बैठे हैं।

मीडिया और पुलिस के पहुँचने पर दुकानें खुली है। दुकान में भी काफी तोड़फोड़ हो रखी है। इसके अलावा जो सड़क पर ठेली लगी हुई थी उस पर भी समुदाय विशेष ने पत्थर फेंके। आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, मालेगाँव में भी हिंसा की खबरें आई हैं। वहाँ भी दुकानों को नुकसान पहुँचाया गया और पुलिस से मुठभेड़ भी हुई। इन घटनाओं के बाद भाजपा नेता तुषार भारतीय ने प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ सख्त एक्शन की माँग की है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र के नांदेड़, अमरावती और मालेगाँव समेत कई शहरों में हिंसा पर पुलिस ने काबू पा लिया है।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने कहा, “पूरे राज्य भर के मुस्लिमों ने आज त्रिपुरा में हुई हिंसा के विरोध में मार्च किया। इस दौरान नांदेड़, मालेगाँव और अमरावती समेत कई जगहों पर हमला किया। मैं हर हिंदू और मुस्लिम से शांति कायम करने की अपील करता हूँ।”

उन्होंने बताया, “स्थिति अभी नियंत्रण में है। मैं खुद वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से बात करके इस मामले पर नजर बनाए हुए हूँ। अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसे नहीं छोड़ा जाएगा। हमें सामाजिक सौहार्द बनाए रखना है। मैं सबसे अपील करता हूँ। मैं पुलिस से भी अपील करता हूँ कि वो स्थिति को नियंत्रण में रखें और शांति बनाए रखें।”

वहीं नांदेड़ के एसपी प्रमोद कुमार ने कहा, “रजा अकादमी की तरफ से नांदेड़ में एक धरना आयोजित किया गया, इसमें सहभागी कुछ युवाओं ने पुलिस पर पथराव किया। पुलिस ने उचित बल का प्रयोग करते हुए उन्हें भगा दिया। शहर में 3-4 जगह ऐसी घटना हुई हैं। मामला दर्ज़ कर रहे हैं। अभी नांदेड़ में शांति है”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें