नितिन गडकरी का ऐलान, अगर फिर बनी भाजपा की सरकार तो अमेरिका जैसी होगी उत्तर प्रदेश की सड़कें

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लोकार्पण और शिलान्यास का दौर लगातार जारी है। आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर केंद्र सरकार की ओर से कई परियोजनाओं का तोहफा भी राज्य को दिया जा रहा है। इन सब के बीच केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ऐलान किया कि यदि 2022 में एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनती है तो वह राज्य की सड़कों को अमेरिका जैसा बना देंगे। दरअसल, नितिन गडकरी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे को जनता को समर्पित किया। इसके साथ ही उन्होंने ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे पर कुशल परिवहन प्रणाली का भी उद्घाटन किया। नितिन गडकरी गुरुवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में थे। इसके साथ ही नितिन गडकरी ने कहा कि दिल्ली और लखनऊ को जोड़ने के लिए एक नया एक्सप्रेसवे लिंक बनाया जाएगा जिससे कि दोनों शहरों के बीच आवागमन पास समय कम होगा।

गडकरी ने आगे कहा कि प्रस्तावित नए एक्सप्रेसवे लिंक का शिलान्यास अगले 10-12 दिनों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में किया जाएगा। उन्होंने कहा, हमने दिल्ली और लखनऊ को सीधे जोड़ने की योजना बनाई है। इसके साथ ही गडकरी ने कहा कि देश में सड़क इंजीनियरिंग में सुधार करने की जरूरत है क्योंकि हर साल 5 लाख दुर्घटनाओं में लगभग 1.5 लाख लोग मारे जाते हैं। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कुशल परिवहन प्रणाली (आईटीएस) के उद्घाटन पर कहा कि यह भारतीय अवसंरचना विकास के इतिहास में एक प्रमुख कदम है। उन्होंने कहा कि आईटीएस एक क्रांतिकारी अत्याधुनिक तकनीक है जो यातायात की समस्याओं को कम करके, कुशल बुनियादी ढांचे के उपयोग को बढ़ावा देकर, यातायात के बारे में पूर्व सूचना के साथ उपयोगकर्ताओं को समृद्ध करने और यात्रा के समय को कम करने के साथ-साथ यात्रियों की सुरक्षा और आराम को बढ़ाकर यातायात दक्षता हासिल करेगी।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि दो पहिया एवं चार पहिया वाहन जल्द ही सौ फीसदी इथेनॉल पर चलेंगे जिससे किसानों की आय बढ़ेगी, प्रदूषण कम होगा और पेट्रोल पर निर्भरता भी कम होगी। गडकरी ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को उनकी जयंती पर याद करते हुए कहा, ‘‘चौधरी चरण सिंह जी ने किसानों- मजदूरों का जीवन स्तर उठाने के लिए जीवन भर संघर्ष किया। मुझे खुशी है कि हमारी सरकार ने निर्णय लिया कि किसान अन्नदाता नही ऊर्ज़ादाता होगा। अब दोपहिया व चार पहिया वाहन शत-प्रतिशत पेट्रोल के साथ शत-प्रतिशत इथेनॉल से चलेंगे जो किसान का तैयार किया हुआ है। इससे किसानों की आय बढ़ेगी,प्रदूषण कम होगा और पेट्रोल पर निर्भरता कम होगी।’’ गडकरी ने कहा कि इसके लिए उन्होंने अपनी सहमति स्वरूप हस्ताक्षर भी कर दिये हैं और दो-तीन दिन में इसको लेकर परामर्श जारी हो जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें