प्रधानमंत्री मोदी ने सभी सांसदों को दिया निर्देश- 75 तालाबों का निर्माण कराए सांसद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के 75 साल के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे अमृत महोत्सव को लेकर पार्टी के सभी सांसदों को अपने-अपने संसदीय क्षेत्र में 75 तालाबों का निर्माण करने का निर्देश दिया है।

मंगलवार को नई दिल्ली के अंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में भाजपा संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने सभी सांसदों को पार्टी के स्थापना दिवस , 6 अप्रैल से लेकर अंबेडकर जयंती 14 अप्रैल तक चलाए जाने वाले कार्यक्रम का खाका भी दिया। बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की अवधि को 6 महीने के लिए बढ़ाने का जिक्र करते हुए कहा, “सरकार निचले स्तर तक गरीबों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है और इसकी जानकारी सभी लोगों तक पहुंचनी चाहिए। भाजपा सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के योगदान का सम्मान करती है इसलिए सरकार सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के योगदान को लेकर एक म्यूजियम भी बना रही है।”

बैठक के बारे में बात करते हुए केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की अवधि को 6 महीने के लिए बढ़ाने के फैसले को लेकर भाजपा सांसद दल की बैठक में सभी सांसदों ने प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्यक्त किया।

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के बारे में बताते हुए मेघवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा दोनों ने पार्टी के स्थापना दिवस 6 अप्रैल से लेकर 14 अप्रैल , अंबेडकर जयंती तक सामाजिक न्याय को लेकर कई तरह के कार्यक्रमों को करने का निर्देश सांसदों को दिया है।

उन्होंने बताया, “6 अप्रैल को भाजपा का स्थापना दिवस है, 11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले की जयंती है और 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती है। इसी बीच रामनवमी और नववर्ष भी है। इस दौरान सामाजिक न्याय को लेकर सभी सांसदों को अलग-अलग स्तरों पर बैठक करने, सरकार के कामकाज और उपलब्धियों को आमजनों तक पहुंचाने और अपने-अपने संसदीय क्षेत्र में प्रेस कांफ्रेंस करने को भी कहा गया है।”

संसदीय दल की बैठक स्थल के बाहर अंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में ही आजादी के गुमनाम नायकों को लेकर एक प्रदर्शनी भी लगाई गई थी। केंद्र सरकार के मंत्रियों और भाजपा सांसदों ने बैठक के समापन के बाद इस प्रदर्शनी को भी देखा।

आईएएनएस से बात करते हुए भाजपा राज्यसभा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह संदेश दिया है कि देश के विभिन्न इलाकों में हजारों लोगों ने देश के लिए बलिदान दिया है जिन्हें इतिहास के पन्नों में समुचित जगह नहीं मिल पाई है, उन सबको समुचित स्थान और सम्मान देने का यह प्रयास हैं ।

विरोधी दल पर कटाक्ष करते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि यह उन लोगों को भी जवाब है जो इतिहास को एक व्यक्ति, एक पार्टी और एक विचारधारा की बपौती मानते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें