कोरोना वायरस से डरने की जरूरत नहीं सतर्कता बरतें, अफवाहों से बचें, और नमस्ते की आदत डालें, सरकार मिशन मोड में काम कर रही है : PM मोदी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की चुनौतियों से निपटने के लिए आज स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने जा रहे हैं। इस मुलाकात में PM मोदी कोरोना वायरस से जुड़े जानकारी लेंगे और इस खतरनाक बीमारी से निपटने के लिए किए जा रहे इंतजामों की जानकारी लेंगे। साथ ही इस दौरान PM मोदी स्वास्थ्य मंत्रालय को जरूरी निर्देश भी दे सकते हैं।

इससे पहले जनऔषधि दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनऔषधि केंद्रों के लाभार्थियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा “हर भारतवासी के स्वास्थ्य के लिए हम चार सूत्रों पर काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना यानी पीएम-बीजेपी, इसी की एक अहम कड़ी है। ये देश के हर व्यक्ति तक सस्ता और उत्तम इलाज पहुंचाने का संकल्प है। मुझे बहुत संतोष है कि अब तक 6 हजार से अधिक जनऔषधि केंद्र पूरे देश में खुल चुके हैं।”

श्री मोदी ने आगे कहा कि इस योजना की वजह से पहले की तुलना में इलाज पर खर्च बहुत कम हो रहा है। मुझे बताया गया है कि अभी तक पूरे देश में करोड़ों गरीब और मध्यम वर्ग के साथियों को 2000-2500 करोड़ रुपये की बचत जनऔषधि केंद्रों के कारण हुई है। आप सभी प्रशंसनीय काम कर रहे हैं। आपके इस काम को पहचान दिलाने के लिए सरकार ने इस योजना से जुड़े पुरस्कारों की शुरुआत करने का भी फैसला लिया है।

मोदी ने कहा, जैसे-जैसे ये नेटवर्क बढ़ रहा है, वैसे ही इसका लाभ भी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच रहा है। आज हर महीने एक करोड़ से अधिक परिवार इन जन औषधि केंद्रों के माध्यम से बहुत सस्ती दवाइयां ले रहे हैं।

कोरोनावायरस पर पूछे गए सवाल पर PM मोदी ने कहा कि परिवार में जो बाकी लोग होते हैं उनकी भी संक्रमित होने की आशंका ज्यादा होती है, ऐसे में उनको भी जरूरी टेस्ट करा लेने चाहिएं। ऐसे साथियों को मास्क भी पहनने चाहिएं, ग्लब्स भी पहनने चाहिएं और दूसरों से कुछ दूरी बनाकर रहनी चाहिए। साथ ही पीएम मोदी ने अफवाहों से बचने की भी सलाह दी। और कहा कि नमस्ते की आदत डाल लेनी चाहिए।

ज्ञात हो कि अबतक भारत में कोरोना वायरस के 34 पेशेंट पाजेटिव पाए गए हैं। इन 31 में से 16 व्यक्ति इटली से भारत घूमने आए थे। खबरों के मुताबिक इसके अलावा 29000 लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। यानी कि लगभग 29000 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया है।

केंद्र ने भारत में कोरोना वायरस के मामलों के मद्देनजर मास्क और हैंड सेनीटाइजर की बढ़ी मांग को देखते हुए इसकी जमाखोरी और कालाबाजारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री जी वी सदानंद गौड़ा ने कहा कि सरकार के पास यद्यपि इन उत्पादों की आपूर्ति और मांग से जुड़े नवीन आंकड़े नहीं है, इनकी उपलब्धता का वास्तविक आकलन किया जाएगा।

गौड़ा ने संवाददाताओं से कहा, “कारोबारी क्षेत्र के लोग कह रहे हैं कि देश में फेस मास्क और हैंड सेनीटाइजर की कोई कमी नहीं है लेकिन हमारा विभाग उपलब्धता का आकलन करेगा और उसी के मुताबिक आगे कार्रवाई करेगा।”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें