मोदी सरकार के 100 पुरे, प्रस्तुत किय रिपोर्ट कार्ड, जावड़ेकर ने गिनाई उपलब्धियां, जारी किया ‘‘जन कनेक्ट’’बुकलेट

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने रविवार को कहा कि मोदी सरकार के पहले 100 दिनों के प्रमुख निर्णयों में जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करना, तीन तलाक को अपराध बनाना और किसी व्यक्ति को ‘आतंकवादी’ घोषित करने के लिए एक कानून में संशोधन करना शामिल था। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में शुरुआती 100 दिनों के कामकाज का लेखाजोखा देते हुए जावड़ेकर ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है और देश में हायतौबा वाली स्थिति नहीं है। आर्थिक विकास की गति में गिरावट को वैश्विक आर्थिक मंदी का नतीजा बताते हुये कहा कि यह दौर लंबा नहीं चलेगा क्योंकि घरेलू बाजार की स्थिति बेहतर है और सरकार स्थिति को संभालने के लिये सजगता से सक्रिय है।

जावड़ेकर ने सरकार की उपलब्धियों को लेकर यहां एक संवाददाता सम्मेलन किया और एक पुस्तिका बुकलेट Connect जन कनेक्ट ’जारी भी जारी किया। उन्होंने कहा कि समय-समय पर उत्पन्न होने वाली वैश्विक मंदी भारत की विकास गति को रोक नहीं सकेगी। भारत की तरक्की पिछले पांच सालों में सात फीसदी की रही और हमें पूरा विश्वास है कि आगे भी ये जारी रहेगी। आर्थिक मोर्चे पर देश में हायतौबा वाली स्थिति नहीं है। हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत है। जावडे़कर ने अर्थव्यवस्था की सुस्ती के सवाल पर कहा कि विश्वव्यापी स्तर पर आर्थिक मंदी का दौर चल रहा है। इसका क्षणिक असर सभी अर्थव्यवस्थाओं पर पड़ता है लेकिन भारत में घरेलू बाजार की मजबूती मंदी को प्रभावी नहीं होने देगी।

उन्होंने दलील दी कि, देश में निवेश आ रहा है, अधिकतम प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की स्थिति हम देख रहे हैं। साथ ही घरेलू बाजार में मांग भी बेहतर है। कभी कभी कुछ बाधायें आती हैं, क्योंकि वैश्विक स्तर पर मंदी का दौर चल रहा है जो कि घरेलू बाजार पर असर डालता है। यह अस्थायी दौर होता है, इसलिये हमें बहुत अधिक चिंता करने की जरूरत नहीं है। सरकार पूरी सजगता से सक्रिय है। जो भी जरूरी तात्कालिक कदम उठाये जाने चाहिये, सरकार वे कदम उठा रही है। जारी पुस्तिका के अनुसार संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर को प्राप्त विशेष दर्जा समाप्त करने का कदम राज्य को अन्य राज्यों के बराबर लाएगा। उन्होंने कहा कि विश्व समुदाय ने विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत के कदम का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि मात्र एक आतंकवादी घटना को छोड़कर पिछले 35 दिनों में जम्मू कश्मीर में पुलिस गोलीबारी या आंसू गैस के गोले छोड़ने से किसी भी भी मृत्यु नहीं हुई है।

श्री जावड़ेकर ने कहा कि पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सहित सभी दरवाजे खटखटाये लेकिन दुनिया भारत के साथ खड़ी रही…यह सबसे बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा 14 पुलिस थानों में लागू है ‘‘इसके अलावा अन्य कोई पाबंदी नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ ‘‘विदेशी संवाद समितियों’’ ने कहीं और हुए प्रदर्शन या ऐसे प्रदर्शन दिखाये जो कि चार वर्ष पहले हुए थे और उन्हें जम्मू कश्मीर में प्रदर्शन के तौर पर पेश किया। यद्यपि सरकार दूरदर्शन के जरिये ‘‘फर्जी खबरों’’ का मुकाबला कर रही है और जम्मू कश्मीर की वास्तविकता दिखा रही है। पुस्तिका में कहा गया कि जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वापस लेने के बाद शिक्षा, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यकों और अन्य से जुड़े कानून जम्मू कश्मीर में लागू होंगे..समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधान भी लागू होंगे।

आर्थिक विकास की कमजोर पड़ी गति का हवाला देकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा सरकार की 100 दिन की उपलब्धियों पर किये गये कटाक्ष पर जावड़ेकर ने कहा कि जो 100 में से 90 दिन बाहर रहे हों, उनकी बात पर मैं क्या कहूं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी का 15 अगस्त को दिया गया भाषण और लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर दिया गया भाषण और संसद से पारित हुये कानूनों के बाद जिस तरह से स्थिति में जबरदस्त तरीके से बदलाव आया है और नियमों का अमल हुआ है यह गति कांग्रेस ने शायद कभी देखी नहीं थी। इसलिये उनके (राहुल गांधी) बयान पर मुझे कुछ कहने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि कई बार मंदी की चक्रीय प्रक्रिया होती है। भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद बेहद मजबूत है और इसलिए यह प्रभावित नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि भारत में पिछले साल रिकॉर्ड प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आया। यह चीन से दोगुना था। उन्होंने यह भी कहा कि योजना के अनुरूप किसानों की आय को दोगुना किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने भारत को 2024 तक पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए भी रूपरेखा पेश की है। जावड़ेकर ने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के प्रति प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शनिवार को दिखायी गई संवेदनशीलता की प्रशंसा की जब इसरो केंद्र का चंद्रयान..2 लैंडर विक्रम से सम्पर्क टूट गया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें