Assembly Election 2022 Dates: उत्तर प्रदेश – उत्तराखंड समेत 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान, देखें पूरा कार्यक्रम

न्यूज़ डेस्क। भारतीय निर्वाचन आयोग ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में होने वाले विधान सभा चुनाव 2022 की तरीखों का ऐलान कर दिया है। भारत के चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा की। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 सात चरणों में संपन्न होगा। उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में एक चरण में चुनाव संपन्न होंगे। मणिपुर में दो फेज में चुनाव होगा । पांचों राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम 10 मार्च 2022 को घोषित होंगे। चुनाव तारीखों के एलान के साथ ही पांचों राज्यों में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 कार्यक्रम (2022 Uttar Pradesh Legislative Assembly Election Schedule)

  • पहला चरण 10 फरवरी 2022
  • दूसरा चरण 14 फरवरी 2022
  • तीसरा चरण 20 फरवरी 2022
  • चौथा चरण 23 फरवरी 2022
  • पांचवां चरण 27 फरवरी 2022
  • छठवां चरण 3 मार्च 2022
  • सातवां चरण 7 मार्च 2022

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 कार्यक्रम (2022 Uttarakhand Legislative Assembly Election Schedule)

  • 14 फरवरी 2022

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 कार्यक्रम (2022 Punjab Legislative Assembly Election Schedule)

  • 14 फरवरी 2022

गोवा विधानसभा चुनाव 2022 कार्यक्रम (2022 Goa Legislative Assembly Election Schedule)

  • 14 फरवरी 2022

मणिपुर विधानसभा चुनाव 2022 कार्यक्रम (2022 Manipur Legislative Assembly Election Schedule)

  • पहला चरण 27 फरवरी 2022
  • दूसरा चरण 3 मार्च 2022

690 विधानसभा क्षेत्रों के लिए होगा चुनाव

भारत के चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि चुनाव आयोग ने 3 लक्ष्यों पर काम किया है। ये लक्ष्य हैं और मतदाताओं की ज्यादा से ज्यादा भागीदारी। सुशील चंद्रा ने कहा है कि इस बार 5 राज्यों की 690 विधानसभा क्षेत्रों के लिए चुनाव होंगे। CEC ने कहा कि कोरोना काल में चुनाव कराना चुनौती पूर्ण है।

चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने बताया इस बार पांच राज्यों के चुनाव में कुल 18.34 करोड़ मतदाता हैं, इनमें सर्विस मतदाता भी शामिल हैं। इनमें से 8.55 करोड़ महिला मतदाता हैं। कुल 24.9 लाख मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। इनमें से 11.4 लाख महिलाएं पहली बार वोटर बनीं हैं। सभी बूथ ग्राउंड फ्लोर पर होंगे, ताकि लोगों को सुविधा हो। बूथ पर सैनिटाइजर, मास्क उपलब्ध होगा।

चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने बताया कि पांच राज्यों में 2 लाख 15 हजार से ज्यादा पोलिंग बूथ्स पर मतदान होंगे। हर विधानसभा में एक पोलिंग बूथ को पूरी तरह से महिला स्टाफ संभालेगा। इस तरह पांचों राज्यों में 1620 मतदान केंद्रों पर सिर्फ महिला कर्मचारी रहेंगी। 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों, दिव्यांगजनों और कोविड प्रभावित लोगों के लिए पोस्टल बैलट की सुविधा होगी। इलेक्शन कमीशन के 900 ऑब्जर्वर्स चुनाव पर नजर रखेंगे।

चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने बताया कि सभी उम्मीदवारों के लिए आपराधिक जानकारी देना जरूरी होगा। सभी उम्मीदवारों को अपना आपराधिक रिकॉर्ड चुनाव आयोग द्वारा बनाई गई Know Your Candidate ऐप पर उपलब्ध करानी होगी। चुनावों में पैसों के दुरुपयोग पर खास नजर रखी जाएगी। आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत के लिए See Vigil ऐप बनाई गई है, जिस पर आम जनता फोटो या वीडियो शेयर कर सकेगी। चुनाव आयोग 100 मिनट के भीतर इसका संज्ञान लेकर कार्रवाई करेगा।

चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने जानकारी दी कि इस बार मतदान के लिए समय को एक घंटा बढ़ा दिया गया है। ऐसा कोरोना की वजह से किया गया है। चुनाव के समय की घोषणा अधिसूचना जारी करने के वक्त की जाएगी। चुनाव आयोग ने आज से 15 जनवरी तक रोड शो, रैली, साइकिल रैली पदयात्रा पर पूर्ण रुप से रोक लगा दी है। कोरोना की स्थिति देखने के बाद 15 जनवरी को इस पर फिर से विचार किया जाएगा।

चीफ इलेक्शन कमीश्नर सुशील चंद्रा ने जानकारी दी कि चुनाव प्रचार डिजिटल, वर्चुअल, मोबाइल के जरिए करें। फिजिकल प्रचार के पारंपरिक साधनों का इस्तेमाल कम से कम करें। इसके अलावा रात आठ बजे से सुबह आठ बजे तक कोई प्रचार, जन संपर्क राजनीतिक पार्टियां नहीं कर सकेंगी। विजय जुलूस नहीं निकाला जा सकेगा। विजय उम्मीदवार दो लोगों के साथ प्रमाण पत्र लेने जाएंगे। पार्टियों को तय जगहों पर ही सभा करने की अनुमति होगी। सभी पार्टियों और उम्मीदवारों को अंडरटेकिंग देनी होगी कि वे कोविड गाइड लाइन का पालन सख्ती से करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें