अहम निर्णय : CBSE का बड़ा फैसला, जो छात्र जहां है, वहीं से देगा 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

नई दिल्ली| दसवीं और बारहवीं कक्षा के जो छात्र फिलहाल जहां हैं, वह वहीं से अपनी शेष रह गई बोर्ड परीक्षाएं दे सकेंगे। CBSE नए सिरे से इन छात्रों के लिए इनके नजदीकी स्कूलों में बोर्ड परीक्षा के सेंटर बनाएगा। बुधवार शाम CBSE में यह अहम निर्णय लिया गया है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, “बहुत से छात्र छात्रावासों में रह रहे थे और लॉक डाउन घोषित होने के बाद छात्रावास खाली करके अपने घर चले गए हैं। कोई छात्र केरल, कोई तमिलनाडु और कई अन्य दूरदराज के स्थानों पर जा चुके हैं। स्वयं नवोदय विद्यालय में पढ़ने वाले 3000 छात्रों को मंत्रालय की सहायता से उनके घरों को भिजवाया गया है। इसलिए छात्र जिस जनपद पर फिलहाल मौजूद हैं उनकी बोर्ड परीक्षाएं उन्हीं जनपदों पर ली जाएंगी।”

उम्मीदवारों की समस्या को ध्यान में रखते हुए CBSE ने परीक्षा केंद्र को छात्रों के वर्तमान जिले में स्थानांतरित करने का फैसला किया है। इस संबंध में, CBSE द्वारा जून के पहले सप्ताह में अधिसूचना जारी की जाएगी। CBSE के मुताबिक ऐसे उम्मीदवारों को सूचित किया जाता है कि वे अपने नजदीकी स्कूलों के संपर्क में रहें।

केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा छात्र, “छात्र अपनी परीक्षाओं के संबंध में अपने नजदीकी स्कूलों से संपर्क करें। अपनी जानकारी उन्हें प्रदान करें इसके उपरांत जून के प्रथम सप्ताह में इन छात्राओं को लेकर कार्यक्रम तैयार कर लिया जाएगा। हालांकि इसके लिए छात्रों को अपने नजदीकी स्कूलों में जाकर जानकारी देनी होगी।”

गौरतलब है कि इससे पहले CBSE ने एक अहम निर्णय लेते हुए छात्रों के लिए उन्हीं के स्कूलों में परीक्षा देने की व्यवस्था की है। सामान्य तौर पर 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्रों को बोर्ड परीक्षा देने के लिए दूसरे स्कूलों में बने परीक्षा केंद्रों पर जाना होता है, लेकिन कोरोनावायरस और लॉक डाउन को देखते हुए CBSE ने यह फैसला लिया है। जो छात्र फिलहाल अपने स्कूलों के समीप रह रहे हैं वह अपनी परीक्षाएं अपने स्कूलों में ही देंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें