फाइल शेयरिंग चीनी वेबसाइट WeTransfer भारत में बैन, जानें क्यों किया बैन क्या है दूसरे ऑप्शन

नई दिल्ली। सुरक्षा कारणों से कंप्यूटर फाइल शेयरिंग वेबसाइट वीट्रांसफर (WeTransfer) पर देश में प्रतिबंध लगा दिया गया है। एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई। दरअसल, सरकार ने कुछ ही दिन पहले इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (IASP) को सुरक्षा कारणों से कंप्यूटर फाइल शेयरिंग वेबसाइट वीट्रांसफर पर रोक लगाने के लिए कहा था।

यह आदेश दिल्ली पुलिस के अनुरोध पर दिया गया था। दूरसंचार विभाग ने 18 मई को जारी आदेश में इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को नीदरलैंड की वेबसाइट वीट्रांसफर पर दो डाउनलोड लिंक को और पूरी वेबसाइट ‘वीट्रांस्फर डॉट कॉम’ को ब्लॉक करने को कहा था।

एक आधिकारिक सूत्र ने कहा, ”दिल्ली पुलिस ने सूचना प्रसारण मंत्रालय से दो लिंक को और पूरी वेबसाइट को तत्काल ब्लॉक करने का अनुरोध किया था। इसी के आधार पर यह आदेश दिया गया है।”

मंत्रालय ने दूरसंचार विभाग को कहा था कि वह इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को बेवसाइट ब्लॉक करने का निर्देश दे। विभिन्न इंटरनेट सेवाप्रदाताओं को ई-मेल के जरिए भेजे आदेश में दूरसंचार विभाग ने कहा है कि इसके अनुपालन की जानकारी तत्काल दी जाए, अन्यथा लाइसेंस की शर्तों के तहत कार्रवाई की जाएगी।

देश में बड़े पैमाने पर फाइल शेयर करने के लिए वीट्रांसफर का इस्तेमाल किया जाता है और ऐसे में इस पर बैन लगने के बाद लोगों के सामने दूसरे ऑप्शन भी मौजूद हैं, जिसके जरिए आसानी से फाइल को शेयर या ट्रांसफर किया जा सकता है। वीट्रांसफर पर प्रतिबंध के बाद आप गूगल ड्राइव (Google Drive), स्मैश (SMASH), ड्रॉपबॉक्स (Dropbox) का उपयोग कर बड़ी आसानी फाइल शेयर कर सकते हैं।

वीट्रांसफर के विकल्प के तौर पर Google drive सबसे बेहतर है, जो कि 15 Gb तक फ्री स्टोरेज की सुविधा मुहैया कराता है। इसे Google की अलग-अलग सर्विस के साथ भी आसानी से इस्तेमाल में लाया जा सकता है। Google drive में ऑडियो से लेकर डॉक्यूमेंट्स और जरूरी फाइल को ना सिर्फ सुरक्षित रख सकते हैं, बल्कि इसे दूसरों के साथ शेयर भी कर सकते हैं। अगर आप 15 Gb की क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपके पास Google one service की भी सुविधा है जो कि एक साल के लिए 1300 रुपए की शुरुआती कीमत पर उपलब्ध है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें