जम्मू-कश्मीर में कहीं भी नहीं है धारा 144, 5 अगस्त के बाद पुलिस फायरिंग में नहीं गई एक भी जान : अमित शाह

नई दिल्ली। आज हंगामे के बीच राज्य सभा में जम्मू-कश्मीर के विषय पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आंकड़े पेश किए। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट बहाली पर फैसला स्थानीय प्रशासन सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के बाद अपने स्तर पर लेगा। शाह ने कहा कि इंटरनेट को जल्दी चालू करना चाहिए, इस बात से मैं सहमत हूं, लेकिन जब देश की सुरक्षा का सवाल है तो प्रथमिकता तय करनी पड़ती है। जब प्रशासन को सही लगेगा तो इस पर विचार करेंगे।

अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आज सभी 195 थानों में कहीं पर धारा 144 नहीं है। सिर्फ एहतियात के तौर पर रात को 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कुछ थानों में लागू किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर में दवाई की पर्याप्त उपलब्धता है, अस्पतालों में काफी संख्या में लोग OPD में आ रहे हैं। कहीं भी स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं में कोई दिक्कत नहीं है।

श्री शाह ने आगे कहा कश्मीर के हालात पूरी तरह सामान्य हो चुके है। देश-दुनिया में कई तरह की भ्रांतिया इस बारे में फैली हुई है। राज्य में 5 अगस्त के बाद पुलिस फायरिंग की वजह एक भी व्यक्ति की जान नहीं गई है। उन्होंने कहा कि पत्थरबाजी की घटनाओं में पिछले साल के मुकाबले कमी आई है। सभी स्कूल खुले है। परीक्षा अच्छे तरीके से ली जा रही है। सभी अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र खुले हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें