जो देश अल्पसंख्यकों का ध्यान नहीं रख सकते उन्हें दूसरों को उपदेश नहीं देना चाहिए : विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली। लाहौर के नजदीक गुरद्वारा ननकाना साहिब की बेअदबी और पेशावर में एक सिख व्यक्ति की हत्या को लेकर भारत ने बृहस्पतिवार को पाकिस्तान की आलोचना करते हुए कहा कि जो देश अपने अल्पसंख्यकों का ध्यान नहीं रख सकते, उन्हें दूसरों को इस बारे में उपदेश नहीं देना चाहिए। पाकिस्तान में एक भीड़ ने शुक्रवार को एक गुरुद्वारे पर कथित रूप से हमला कर दिया था, जहां सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव का जन्म हुआ था। वहीं पिछले हफ्ते उत्तर पश्चिम पाकिस्तान के शहर पेशावर में 25 वर्षीय व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘ ननकाना साहिब और सिख व्यक्ति की हत्या उनके लिए एक आइना है। यह उन लोगों के लिए आइना है जो दूसरों को उपदेश देते हैं।’’ कुमार ने कहा, ‘‘ उन्हें अपने देश के अंदर देखना चाहिए, अपने अल्पसंख्यकों के साथ होते अत्याचारों को देखना चाहिए। उन्हें उनका ध्यान रखना चाहिए। उन्हें इंसाफ दिलाना चाहिए।’’

पाकिस्तान द्वारा अलगाववादी खालिस्तानी एजेंडे को बढ़ावा दिये जाने के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने कहा इसका शुरुआत से ही असफल होना तय है। प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ जहां तक (ननकाना साहिब) घटना का संबंध है, जो देश अपने अल्पसंख्यकों का ध्यान नहीं रख सकता, सिखों का ध्यान नहीं रख सकता, उसे दूसरे देशों को यह नहीं बताना चाहिए कि यह कैसे करना है।’’

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें