पेरिस में बोले PM मोदी, महात्मा गांधी-बुद्ध के देश में ‘टेंपरेरी’ की कोई जगह नहीं

पेरिस। PM मोदी ने संबोधन से पहले यहां पर एक स्मारक का उद्घाटन किया गया है। ये स्मारक एयर इंडिया के दो दुर्घटनाग्रस्त विमानों की याद में बनाया गया है, जिसका उद्घाटन अब प्रधानमंत्री के हाथों हुआ है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय समुदाय के लोगों के बीच पहुंचे तो उनके स्वागत में लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए। PM मोदी ने बीच में उठकर लोगों को शांति बनाए रखने को कहा और पहले राष्ट्रगान के लिए खड़े होने की अपील की।

PM मोदी ने भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत और फ़्रांस के बीच संबंध सैकड़ों साल पुराना है। हमारी दोस्ती किसी स्वार्थ पर नहीं, बल्कि ‘लिबर्टी, इक्वलिटी और फ्रेटरनिटी’ के ठोस आदर्शों पर टिकी है। भारत और फ्रांस की मित्रता अटूट है। ये मित्रता से कहीं आगे है। ये वर्षों पुरानी है। ऐसा कोई वैश्विक मंच नहीं होगा जहां भारत और फ्रांस ने एक दूसरे का समर्थन न किया हो और साथ काम न किया हो। मोदी ने कहा कि जब भारत या फ्रांस को कोई उपलब्धि प्राप्त होती है तो हम एक दूसरे के लिए खुश होते हैं। भारत में फ्रांस की फुटबॉल टीम के समर्थकों की संख्या शायद जितनी फ्रांस में नही होगी, उससे ज्यादा भारत में होगी।

मैंने पहले कहा था कि भारत आशाओं और आकाक्षांओं के सफर पर निकलने वाला है। आज मैं आपसे नम्रता से कहना चाहता हूं कि हम न सिर्फ उस सफर पर निकल चुके हैं, बल्कि 130 करोड़ देशवासियों के प्रयासों से भारत तेज गति से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि हमने पिछले 5 वर्षों में कुछ ऐसे Goal रखे, जो पहले नामुमकिन माने जाते थे। लेकिन Team Spirit की भावना से हमने उन लक्ष्यों को प्राप्त करके दिखाया है। पूरी दुनिया में एक तय समय में सबसे ज्यादा बैंक अकाउंट अगर किसी देश में खुले हैं, तो वो भारत है।

पूरी दुनिया की अगर आज सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा की स्कीम किसी देश में चल रही है, तो उस देश का नाम भारत है। आज नए भारत में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, परिवारवाद, जनता के पैसे की लूट, आतंकवाद पर जिस तरह लगाम कसी जा रही है वैसा पहले कभी नहीं हुआ। नए भारत में थकने, रुकने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

PM नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि महात्मा गांधी और महात्मा बुद्ध के देश में अब टेंपररी कुछ नहीं रहा, जो टेंपररी था उसको हमने निकाल दिया। मोदी ने कहा कि सिर्फ 75 दिनों में हमारी सरकार ने महत्वपूर्ण निर्णय लिए। पीएम मोदी ने परिवारवाद, भ्रष्टाचार पर हमला बोलते हुए कहा कि नया भारत सपनों की राह पर चल पड़ा है। यह बात प्रधानमंत्री मोदी ने आज UNESCO के मुख्यालय में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी UNESCO के मुख्यालय में उनका भव्य स्वागत हुआ। उनके साथ UNESCO की डायरेक्टर जनरल ऑड्री ऑज्रे भी मौजदू थीं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये जनादेश सिर्फ एक सरकार चलाने के लिए नहीं, बल्कि नए भारत के निर्माण के लिए है। ऐसा नया भारत जिसकी समृद्ध सभ्यता और संस्कृति पर पूरे विश्व को गर्व हो, और जो 21वीं सदी की आधुनिकता को भी लीड करे।

श्री मोदी ने कहा कि मैं फ्रांस की सरकार, राष्ट्रपति मैक्रों, और फ्रांस की जनता का मुझे आमंत्रित करने और आप सभी से मिलने का अवसर देने के लिए आभार व्यक्त करता हूं। उन्होंने कहा कि आज मैं आपसे नम्रता से कहना चाहता हूं कि हम न सिर्फ उस सफर पर निकल चुके हैं, बल्कि 130 करोड़ देशवासियों के प्रयासों से भारत तेज गति से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। मैंने पहले कहा था कि भारत आशाओं और आकाक्षांओं के सफर पर निकलने वाला है।भारत में पिछले पांच सालों में ढेर सारे सकारात्मक बदलााव हुए हैं। इन बदलावों के केंद्र में भारत की युवा शक्ति, भारत के गांव, गरीब, किसान और नारी शक्ति इसके केंद्र बिंदु में रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें