अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किया ताजमहल का दीदार, प्रेम के प्रतीक को देखकर हुये आश्चर्यचकित

आगरा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप आगरा पहुँच कर प्रेम के प्रतीक के तौर पर बनाए गए ऐतिहासिक ताजमहल को देखा।प्रेम के प्रतीक के तौर पर बनाए गए 17वीं सदी के मुगल युग के मकबरे को देखकर आश्चर्यचकित हो गए। ट्रंप के साथ उनकी पत्नी, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनर अहमदाबाद से पहुंचे। मुगल शासक शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में ताजमहल बनवाया था। ट्रंप परिवार के दौरे के लिए ताजमहल की सजावट की गई।

राष्ट्रपति ट्रंप और प्रथम महिला ने ताज परिसर का भ्रमण किया और बाद में आगंतुक पुस्तिका में कुछ शब्द लिखे। ताजमहल का दीदार करने के मौके पर विजिटर बुक में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लिखा- ताजमहल हमें भारतीय संस्कृति की धनी और विविधताभरी सुंदरता के अंतहीन सबूत के रूप में हमें प्रेरित करता।

उन्हें धरोहर के इतिहास एवं महत्व के बारे में भी बताया गया। आगरा और ताज के अमेरिकी राष्ट्रपति के दौरे को लेकर स्थानीय लोगों में जबर्दस्त उत्साह था। कुछ दुकानों में भारत में ट्रंप के स्वागत के लिए खुद से पोस्टर तैयार कर लगाए गए थे।

ट्रंप ने भारत के अपने पहले आधिकारिक दौरे के बारे में अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। उन्होंने हिंदी में ट्वीट किया, ‘प्रथम महिला और मैंने इस देश के प्रत्येक नागरिक को यह संदेश देने के लिए 8,000 मील की दूरी तय की कि- अमेरिका भारत को पसंद करता है और अमेरिका के लोग भारत के लोगों के लिए हमेशा ईमानदार एवं प्रतिबद्ध दोस्त रहेंगे।’

खेरिया हवाईअड्डे से 30 वाहनों वाला ट्रंप का काफिला ताजमहल परिसर के पास ओबराय अमरविलास होटल पहुंचा जहां 15,000 से अधिक स्कूली छात्र मार्ग के दोनों तरफ अमेरिका और भारत का झंडा लिए हुए कतार में खड़े थे।

ट्रंप, प्रथम महिला और मोदी की तस्वीरों वाले विशाल पोस्टर उस 13 किलोमीटर के मार्ग में जगह-जगह लगे हुए जहां से उनका काफिला गुजरा। उनके आगरा दौरे के लिए तीन स्तर की सुरक्षा व्यवस्था की गई थी और अधिकारियों ने दोपहर तक ताजमहल खाली करा लिया था। ट्रंप और प्रथम महिला ने संगमरमर के इस आश्चर्य के नजारे का लुत्फ उठाया जहां ठंडी हवाओं ने मौसम को और खुशगवार बना दिया था।

उन्होंने फोटोग्राफरों के लिए पोज भी दिए। ट्रंप से पहले मुगल युग के इस आश्चर्य को देखने वाले अंतिम राष्ट्रपति बिल क्लिंटन थे जो 2000 में भारत आए थे। उन्होंने अपनी बेटी चेलसी क्लिंटन के साथ ताजमहल देखा था। अमेरिकी राष्ट्रपति डेविड ड्वाइट आइजनहावर ने 1959 में तत्कालन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के साथ ताजमहल देखा था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें