राजधानी में 12 जनवरी से होगा तीन दिवसीय महोत्सव, फुगड़ी, भौंरा, गेड़ी दौड़ और डंडा नाच होंगे युवा महोत्सव के प्रमुख आकर्षण

रायपुर। स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राज्य शासन, खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा 12 जनवरी से तीन दिवसीय राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस युवा महोत्सव में प्रदेशभर के 6,521 प्रतिभागी 821 विविध कार्यक्रम की प्रस्तुति होगी। छत्तीसगढ़ी ग्रामीण पृष्ठभूमि से संबंधित खेल फुगड़ी, भौंरा, गेड़ी दौड़ एवं चाल के साथ-साथ छत्तीसगढ़ी लोक गीत और लोक नृत्य करमा, राउत नाचा, पंथी, सरहुल, सुवा, डंडा, बस्तरिया नृत्य की आकर्षक प्रस्तुति राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में दिखाई देगी। साथ ही छत्तीसगढ़ी संस्कृति से संबंधित चित्रकला, छत्तीसगढ़ की पारंपरिक वेशभूषा और व्यंजनों का फूड फेस्टिवल का आयोजन महोत्सव में किया जाएगा।

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव के पहले दिन (12 जनवरी) को खेल संचालनालय परिसर के मुख्य मंच में लोकनृत्य करमा नाचा, द्वितीय मंच में लोक नृत्य तथा ओपन मंच में राउत नाचा की प्रस्तुति होगी। खेल संचालनालय के ऊपर के हॉल में दोहपर 1 बजे शाम 6 बजे तक निबंध और चित्रकला प्रतियोगिता होगी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम के तीनों कक्ष में दोपहर एक बजे से शाम 6.30 बजे तक लोकगीत (1500 सीटर हॉल में), शास्त्रीय हिन्दुस्तानी और कर्नाटक संगीत (100 सीटर हॉल में), गिटार और सितार वादन (60 सीटर हॉल में) की प्रतियोगिताएं होगी। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय प्रेक्षागृह में दोपहर 1 बजे से रात्रि 7 बजे तक एकांकी नाटक और विज्ञान महाविद्यालय ऑडिटोरियम में दोपहर 1 बजे से रात्रि 8 बजे तक तबला वादन की प्रतियोगिता होगी। विश्वविद्यालय खेल प्रतियोगिता परिसर के खुले मैदान में दोहपर एक बजे से महिला एवं पुरूष खेल खो-खो, कबड्डी का आयोजन होगा।

युवा महोत्सव के दूसरे दिन (13 जनवरी) को खेल संचालनालय परिसर के मुख्य मंच में सुबह 9 बजे से रात्रि 7 बजे तक लोक नृत्य, सरहुल नृत्य, द्वितीय मंच में सुवा नृत्य, डण्डा नाच और ओपन मंच में पंथी,बस्तरहिया नृत्य की प्रतियोगिता होगी। पंडित दीनदयाल ऑडिटोरियम में 1500 सीटर हॉल में सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक कत्थक, ओडिसी, कुचीपुड़ी, मणीपुरी नृत्य प्रतियोगिता, 100 सीटर हॉल में तात्कालिक भाषण, भरतनाटयम और पारम्परिक वेशभूषा प्रतियोगिता और 60 सीटर हॉल में बांसुरी वादन प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ऑडिटोरियम में सुबह 9 बजे से रात्रि 9 बजे तक एकांकी नाटक और विज्ञान महाविद्यालय ऑडिटोरियम में सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक हारमोनियम, मृदंगम और वीणा वादन की प्रतियोगिता होगी। खेल संचालनालय के ऊपर हॉल में सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक वाद-विवाद और क्विज की प्रतियोगिता और खेल परिसर डोम में फूड फेस्टिवल का आयोजन सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक किया जाएगा। विश्वविद्यालय खेल प्रतियोगिता परिसर के खुले मैदान में खेल खो-खो (महिला), कबड्डी (महिला), गेड़ी दौड़ का सेमी फाइनल और फाइनल राऊंड खेला जाएगा।

युवा महोत्सव के तीसरे दिन (14 जनवरी) खेल संचालनालय परिसर के मुख्य मंच में सुबह 9 बजे से दोपहर एक बजे तक रॉक बैंड और ओपन मंच में फुगड़ी, भौंरा प्रतियोगिता और हॉल में सुबह 10 बजे से दोहपर 12 बजे तक क्विज का फाइनल राऊंड का आयोजन होगा। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ऑडिटोरियम में 7 जिलों के एकांकी नाटक और विश्वविद्यालय खेल परिसर में सुबह 9 बजे से 11 बजे तक खो-खो (महिला/पुरूष), कबड्डी (महिला/पुरूष) के सेमीफाइनल, फाइनल राउंड एवं यदि मैच शेष रहते हैं तो हार्ड लाईन मैच का आयोजन होगा। 14 जनवरी को दोपहर 2 बजे खेल संचालनालय परिसर के मुख्य मंच में समापन समारोह आयोजित होगा।

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में 15 से 40 वर्ष और 40 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के प्रदेश भर के छह हजार 521 प्रतिभागी भाग लेंगे। इनमें 3 हजार 613 पुरूष, 2 हजार 433 महिला प्रतिभागी और 301 पुरूष और 174 महिला अधिकारी कर्मचारी शामिल हो रहे है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें