सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड टॉरपीडो का सफलतापूर्वक परीक्षण, लंबी दूरी पर लक्ष्य भेदने में सक्षम

नई दिल्ली। भारत ने आज ओडिशा में बालासोर के तट से लंबी दूरी की सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड टॉरपीडो (स्मार्ट) को सफलतापूर्वक अंजाम दिया है। रक्षा अधिकारियों ने बताया कि भारतीय नौसेना के लिए DRDO द्वारा हथियार प्रणाली विकसित की जा रही है, जिसमें अब जल्द और इजाफा होने वाला है।

रक्षा विकास एवं अनुसंधान संगठन (डीआरडीओ) ने सोमवार को बताया कि बालासोर तट पर लंबी रेंज के सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड टॉरपीडो (स्मार्ट) का सफल परीक्षण किया गया है। डीआरडीओ ने जानकारी दी कि इस सिस्टम को पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमताओं को बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है, जो भारतीय नौसेना की ताकत को बढ़ाएगी।

DRDO का कहना है कि सिस्टम को टॉरपीडो की पारंपरिक सीमा से कहीं अधिक एंटी-सब मरीन वारफेयर क्षमता बढ़ाने के लिए डिजाइन किया गया है। टॉरपीडो सुपरसोनिक एंटी-शिप मिसाइल है, जिसमें पनडुब्‍बी को नष्‍ट करने की ताकत है।

जानकारी के मुताबिक यह अगली पीढ़ी की मिसाइल पर बेस्ड टॉरपीडो डिलिवरी सिस्टम है। डीआरडीओ ने बताया कि टेस्टिंग के दौरान मिसाइल की सभी क्षमताओं का सफलतापूर्वक प्रदर्शन देखने को मिला।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें