टिकट ब्लैक मेलर, 200 यूनिट मुफ्त बिजली के चक्कर में 10 लाख की गाड़ी और 50 का मकान न जले, यह हम नहीं कह रहे, दरअसल ट्वविटर में छिड़ी महाभारत……यंहा पढ़े किसने किससे क्या कहा।

नई दिल्ली। उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा के चलते अब तक 50 लोगों की मौत हो चुकी हैं तो 250 से अधिक लोग घायल हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। दिल्ली हिंसा में 50 मौतों का जिम्मेवार कौन इसको लेकर आरोप-प्रत्यारोप का खेल भी खूब चल रहा है। इसी क्रम में बीजेपी के दिवंगत नेता राहुल महाजान ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार पर निशाना साधा और देखते ही देखते ये निशाना सटीक जाकर बैठा और आप की आवाज माने जाने वाले संजय सिंह को लग गया। दरअसल, दिल्ली हिंसा को लेकर राहुल महाजन ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि ‘अगली बार वोट देते वक्त जरूर सोचना की 200 यूनिट मुफ्त बिजली के चक्कर में 10 लाख की गाड़ी और 50 का मकान ना जल जाए।

राहुल की ये बात संजय सिंह को नागवार गुजरी और उन्होंने इसका जवाब देने में भाषा की मर्यादा भी लांघ दी। संजय सिंह ने राहुल को टैग करते हुए लिखा कि ये स्वर्गीय प्रमोद महाजन जी के “समैकी” बेटे हैं कह रहे हैं “बिजली पानी फ़्री लोगे तो घर मकान जला दिये जायेंगे।

संजय ने राहुल पर निशाना साधा तो वो कहां चुप रहने वाले थे सिंह के ट्वीट के चंद मिनटों बाद ही राहुल महाजन ने तीखा पटवार किया और उनकी तुलना महाभारत के धृतराष्ट्र से कर दी। हर ‘धृतराष्ट्र’ को एक ‘संजय’ की जरूरत पड़ती है, और ‘संजय’ का काम था रणभूमि की सही सही जानकारी धृतराष्ट्र तक पहुंचाना। जब संजय को ‘ताहिर हुसैन’ ना दिखे, जब संजय को ‘अमानतुल्ला’ ना दिखे तो, तो धृतराष्ट्र का अनभिज्ञ होना लाजमी है।

राहुल महाजन यहीं नहीं रुके उन्होंने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि दोस्तों सुल्तानपुर के शुभम टाकीज में टिकट ब्लैक करने वाले संजय सिंह को जवाब देना ही होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ दंगे के दौरान ताहिर हुसैन ने संजय सिंह, केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के आलाकमान से 50 से अधिक बार फ़ोन पर बातचीत की। साज़िश कितनी गहरी है इससे पर्दा उठे। बहरहाल, दिल्ली हिंसा को लेकर आरोप-प्रत्यारोप के इस दौर में भाषा की मर्यादा दोनों तरफ से ताक पर रख दी गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें