माघ पूर्णिमा 9 फरवरी से महाशिवरात्रि 21 फरवरी तक होगा, राजिम माघी पुन्नी मेला का आयोजन

रायपुर। माघ पूर्णिमा 9 फरवरी से महाशिवरात्रि 21 फरवरी तक राजिम माघी पुन्नी मेला आयोजित होगा। इसके तहत 15 फरवरी से संत समागम प्रारम्भ होगा । माघ पूर्णिमा 9 फरवरी, 16 फरवरी जानकी जयंती तथा 21 फरवरी महाशिवरात्रि को पर्व स्नान होगा।

मेला अधिकारी एवं आयुक्त रायपुर संभाग जी आर चुरेन्द्र की अध्यक्षता में आज कमिश्नर कार्यालय में आयोजित बैठक में यह जानकारी दी गई। बैठक में उपस्थित विभिन्न विभाग के अधिकारियों तथा संभागीय अधिकारियों को कमिश्नर ने राजिम माघी पुन्नी मेला के बेहतर आयोजन करने के निर्देश दिए और इसके लिए अभी से व्यापक तैयारियां सुनिश्चिित करने को कहा।

कमिश्नर ने लोक निर्माण विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, विद्युत मंडल, वन, परिवहन, खाद्य, सिंचाई, स्वास्थ्य, पुलिस, राजस्व , संबंधित नगर निकाय एवं जनपद, फायर ब्रिगेड, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, संस्कृति, पर्यटन एवं धर्मस्व के साथ-साथ रायपुर, गरियाबंद, धमतरी एवं महासमुंद जिला प्रशासन के अधिकारियों को सभी आवश्यक व्यवस्थाएं एवं तैयारियां करने को कहा। उन्होंने इसके लिए अपने विभागों और जिला कार्यालयों से समन्वय भी बनाने को कहा। उन्होंने कहा कि इस वर्ष भी यहाॅ विभिन्न विभागों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

कमिश्नर ने मेला परिसर के कम 15 किलोमीटर के परिधि के सभी सड़क मार्गो की साफ-सफाई करने और दूरस्थ करने को कहा साथ ही साथ इन मार्गो में विभागीय योजनाओं और उपलबिध्यों के होर्डिंग्स बोर्ड भी लगाने को कहा। उन्होंने साधु संतो की कुटीर के लिए रायपुर तथा गरियाबंद के अधिकारियों को बांस एवं घास आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। बैठक में राजिम माघी पुन्नी मेला 2020 के समन्वयक एवं सदस्य केन्द्रीय समिति गिरीश बिस्सा भी उपस्थित थे।

कमिश्नर ने बताया कि इस संबंध में कल गरियाबंद में जिले के पवित्र धार्मिक नगरी राजिम में स्थानीय आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं कलेक्टर गरियाबंद श्याम धावड़े की उपस्थिति में बैठक आयोजित की गई थी। उन्होंने मेले की महत्ता केे अनुरूप सभी विभागों एवं संभागीय अधिकारियों को अपने कार्य सुनिश्चिित करने के निर्देश दिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें