छत्तीसगढ़ में संक्रमण के संदेह में 63 संदिग्धों की जांच, किसी में भी कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं, 31 मार्च तक शासकीय-अर्धशासकीय स्कुल-कॉलेज और निजी व्यायामशाला बंद रखने के आदेश

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अभी तक किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई है। कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में 63 लोगों के नमूनों की जांच की गई थी।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने शनिवार को यहां बताया कि शुक्रवार को 17 लोगों के भेजे गए नमूनों की रिपोर्ट मिल गई। इनमें नया रायपुर में स्थित हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के दो छात्र और CRPF के जवान की रिपोर्ट भी शामिल हैं।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि विधि विश्वविद्यालय के छात्रों को होली अवकाश से लौटने के बाद सर्दी, खांसी और बुखार की शिकायत थी। इसके बाद दोनों छात्रों के नमूनों को जांच के लिए भेजा गया था।अधिकारियों ने बताया कि नक्सल प्रभावित सुकमा जिले का जवान 10 मार्च को 30 दिनों की छुट्टी के बाद केरल से छत्तीसगढ़ लौटा था। जवान के नमूने को भी जांच के लिए भेजा गया था।

उन्होंने बताया कि अभी तक राज्य से 63 संदिग्ध लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे गए थे। जिनमें से किसी में भी इस वायरस की पुष्टि नहीं हुई है।अधिकारियों ने बताया कि नमूनों की जांच रायपुर स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में की जा रही है।उन्होंने बताया कि जिन लोगों के नमूने को जांच के लिए भेजा गया है उनमें से नौ लोगों ने 28 दिनों की निगरानी को पूर्ण कर लिया है। वहीं अन्य लोगों को उनके घरों में आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि जिनका नमूना जांच के लिए भेजा गया है उन्होंने कोरोना वायरस से प्रभावित देशों की यात्रा की थी अथवा संदिग्ध प्रभावितों के संपर्क में आए थे। छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस से बचाव के लिएनगरीय निकायों की सीमा के अंतर्गत स्थित सभी सार्वजनिक पुस्तकालय (लाइब्रेरी) तथा शासकीय, अर्धशासकीय और निजी व्यायामशाला (जिम), तरणताल (स्वीमिंग पुल),वॉटर पार्क और आंगनवाड़ी केंद्रों को 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया है। वहीं राज्य के सभी विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों को भी 31 मार्च तक बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। जारी आदेश में विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में परीक्षा संचालन के लिए सभी शैक्षणिक तथा गैर शैक्षणिक स्टाफ को नियमित रूप से उपस्थित होने को कहा गया है। केवल कक्षाओं का संचालन स्थगित रखने कहा गया है।आदेश के अनुसार विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित स्नातक भाग-एक और भाग-दो तथा स्नातकोत्तर भाग-एक तथा सेमेस्टर पद्धति में सेमेस्टर एक, दो और तीन की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई है। केवल स्नातक अंतिम वर्ष तथा स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष तथा अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं यथावत आयोजित होंगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें