राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रो-रोकर पत्नी के इलाज की भीख मांग रहा है मजबूर गरीब

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में एक गरीब और मजबूर व्यक्ति रो-रोकर अपनी बीमार पत्नी के इलाज के लिए भीख मांग रहा है। कोरोना वायरस के संक्रमण काल के दौरान सारी व्यवस्थाओं के पुख्ता होने का दंभ भरने वाली केंद्र और दिल्ली सरकार ऐसे में क्या कर रही है?

गरीब व्यक्ति अपनी बीमार पत्नी के इलाज के लिए रो-रो कर दया की भीख मांग रहा है। उसने बताया कि वह सवेरे 3 बजे से अस्पताल आया हुआ है। उसकी बीमार पत्नी को तेज बुखार है और उसके कान से खून भी आ रहा है। इसके बावजूद अस्पताल में उसका इलाज नहीं किया जा रहा है। व्यक्ति रो-रोकर बता रहा है कि उसकी छोटी सी बच्ची है। मां नहीं होगी, तो बच्ची का क्या होगा? फिर भी, कोई सुनवाई नहीं हो रही।

अगर देश की राजधानी दिल्ली में बीमारों के इलाज की व्यवस्था इतनी अस्त-व्यस्त और बेहाल है तो फिर देश के अन्य राज्यों की हालत कितनी बदहाल होगी, यह खुद ही समझा जा सकता है। खबर लिखे जाने तक भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई कि उस गरीब और मजबूर व्यक्ति की दारुण पुकार संबंधित अधिकारियों के कानों तक पहुंच भी पाई या नहीं!

वहीं, दूसरी ओर प्रदेश की केजरीवाल सरकार की पार्टी APP ट्विटर पर सरकारी और निजी अस्पतालों में गरीबों के इलाज को लेकर क्या-क्या नियम हैं, यह बढ़ चढ़ के ढिंढोरा पीटने में लगी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें