जीने का हुनर सीखने वाले सुशांत, आखिरकार पंचतत्व में हुआ विलीन, मुम्बई के पवन हंस श्मशान घाट में हुआ अंतिम संस्कार

मुंबई। जाने माने बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत पंचतत्व में विलीन हो गए। उनका अंतिम संस्कार सोमवार को उपनगरीय विले पार्ले स्थित पवन हंस श्मशान घाट में किया गया। इस दौरान उनके पिता, परिवार के अन्य लोग और करीबी दोस्त मौजूद रहे। कोविड 19 प्रोटोकॉल की वजह से सुशांत की अंतिम यात्रा में 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो पाए।

बेटे सुशांत की मौत की खबर सुनकर आज उनके पति चचेरे भाई और अन्य रिश्तेदारों के साथ पटना से मुंबई पहुंचे थे। दूसरी तरफ उनकी दोस्त रिया चक्रवर्ती मुंबई के कूपर अस्पताल पहुंची थीं, जहां सुशांत का शव रखा गया था। सुशांत की अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए बॉलीवुड सेलेब्स श्मशान घाट पहुंचे। श्रद्धा कपूर और कृति सेनन अपने दोस्त को अंतिम विदाई दी।

सोमवार को फॉरेंसिक टीम भी उनके किराए के फ्लैट पर जांच पड़ताल करने पहुंची थी। सुशांत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। रिपोर्ट में आया है कि सुशांत की मौत दम घुटने से हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पोस्टमॉर्टम के बाद सुशांत सिंह राजपूत के आर्गेन्स को जांच के लिए भेजा गया है।

सुशांत 34 साल के थे। उन्होंने बांद्रा स्थित अपने घर में कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मुम्बई पुलिस को जांच में पता चला है कि अभिनेता अवसाद की दवाइयां भी ले रहे थे। अधिकारी ने बताया कि मौके से कोई पत्र बरामद नहीं हुआ है। मुम्बई पुलिस के अलावा अपराध शाखा के अधिकारी भी रविवार को उनके किराए के फ्लैट में गए लेकिन कुछ भी संदिग्ध बरामद नहीं हुआ।

गौरतलब है कि सुशांत के पिता पटना वाले घर में रहते थे। उनके साथ वहां उनकी केयरटेकर लक्ष्मी देवी रहती हैं। लक्ष्मी ने बताया कि सुशांत ने जब उन्हें आखिरी बार फोन किया था तो उन्होंने कहा था, प्लीज मेरे पापा को कोरोना वायरस से बचाना।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें