साल में एक दिन खुलती है ये दुकान, मिलता है कुछ ऐसा कि कई कि.मी. तक रहती है लम्बी लाइन

न्यूज डेक्स। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में एक ऐसी ही दुकान है, जिसका ताला साल भर में सिर्फ एक ही दिन खोला जाता है और जब ये दुकान खुलती है तो इसके बाहर ग्राहकों की लंबी कतारे लग जाती हैं।

प्रतापगढ़ के लोगों को हर साल उस दिन का बेसब्री से इंतजार रहता है, जब यह दुकान खुलनी होती है। इस दुकान पर मिलने वाले मालपुए इतने मशहूर हैं कि पिछले साठ साल से यह दुकान बाजार में अपनी खास पैठ बनाए हुए है। हर साल सिर्फ हरियाली अमावस्या के दिन ही यह दुकान खोली जाती है। दुकान के मालिक ओमप्रकाश पालीवाल का कहना है कि उनके परिवार की चार पीढ़ियां इस दुकान को चलाती आ रही हैं।

लोगों को यहां के मालपुए का स्वाद अपनी ओर खींचता है। जिस दिन ये दुकान खुलती हैं, उस दिन सुबह से ही लोग गरमा-गरम मालपुए खरीदने के लिए लाइन में खड़े हो जाते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस दुकान के जैसे मालपुए का स्वाद और कहीं नहीं मिलता। ये न सिर्फ स्वादिष्ट होते हैं, बल्कि इन्हें परोसने का अंदाज भी निराला होता है। इन मालपुवों को पलाश के पत्तों में में परोसा जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें