कोविड-19 : अमेरिका के वेंटिलेटर देने की पेशकश पर PM मोदी ने ट्रंप को कहा- धन्यवाद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रसार के कारण उत्पन्न वैश्विक स्वास्थ्य संकट के इस समय में दुनिया को स्वस्थ एवं कोविड-19 से मुक्त करने के लिए सभी देशों को एक साथ काम करना जरूरी है। प्रधानमंत्री मोदी ने यह बात अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उस ट्वीट के जवाब में दिया जिसमें उन्होंने भारत को ‘अच्छा मित्र’’ बताया और घोषणा की कि अमेरिका ‘‘अदृश्य शत्रु’’ कोविड-19 से लड़ाई में मदद के लिए भारत को बड़ी संख्या में वेंटिलेटर देगा और इस बीमारी के खिलाफ टीका के विकास में दोनों देश साथ मिलकर काम कर रहे हैं। मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि धन्यवाद राष्ट्रपति ट्रंप। इस महामारी से हम सभी सामूहिक रूप से लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में राष्ट्रों को एक साथ काम करने और दुनिया को स्वस्थ बनाने और कोविड-19 से मुक्त करने के लिए जितना संभव हो उतना काम करना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत और अमेरिका की दोस्ती अधिक शक्ति मिले।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत और अमेरिका के बीच नजदीकी साझेदारी का जिक्र किया और PM नरेंद्र मोदी को अपना ‘‘अच्छा मित्र’’ बताया। उन्होंने घोषणा की कि अमेरिका ‘‘अदृश्य शत्रु’’ से लड़ाई में मदद के लिए भारत को बड़ी संख्या में वेंटिलेटर देगा। ट्रम्प ने यह भी कहा कि अमेरिका और भारत मिलकर घातक कोरोना वायरस के लिए टीका विकसित कर रहे हैं। ट्रम्प ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘मुझे यह घोषणा करते हुए गर्व का अनुभव हो रहा है कि अमेरिका भारत में हमारे मित्रों को वेंटिलेटर्स देगा।’’ वहीं, बुधवार को पीएम केयर्स फंड ट्रस्ट ने निर्णय किया कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के खिलाफ इसका 3100 करोड़ रूपये आवंटित किया जायेगा। इसमें से 2000 करोड़ रूपया वेंटिलेटर की खरीद के लिये आवंटित किया जायेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें