PM मोदी और अमित शाह पर हमले की फिराक में जैश आतंकी, एयरबेस पर भी अलर्ट

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को निशाना बनाने की आतंकी योजना की चेतावनी के बाद सुरक्षा भारतीय एजेंसियां चौकन्नी हो गई हैं। यह जानकारी दी गृह मंत्रालय के सूत्रों मिली है।

गृह मंत्रालय ने 30 प्रमुख शहरों के अलावा सभी राज्यों को अलर्ट जारी कर दिया है। उधर, भारतीय वायुसेना के सूत्रों ने भी मल्टी-एजेंसी इनपुट के बाद फ्रंटलाइन बेस के लिए एक गंभीर सुरक्षा खतरे की पुष्टि की है। उच्च स्तर की आपातकालीन स्थिति से नीचे के स्तर का ‘ऑरेंज अलर्ट’ महत्वपूर्ण संस्थाओं के लिए जारी किया गया है। वहीं, श्रीनगर, अवंतीपोरा, जम्मू, पठानकोट और हिंडन में स्थित IAF ठिकानों की सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है।

रक्षा मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों को मिले इनपुट के मुताबिक, पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद हवाई ठिकानों पर फिदायीन या आत्मघाती हमले की साजिश रच रहा है।

इनपुट में 10 सितंबर को एक धमकी भरा पत्र शामिल है, जो नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो द्वारा प्राप्त किया गया है। कथित तौर पर हिंदी में लिखा हुआ यह पत्र जैश के शमशेर वानी का है और वह कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के फैसले का बदला लेने का दावा कर रहा है।

उधर, पंजाब पुलिस ने दावा किया है कि पाकिस्तान ने ड्रोन की मदद से हथियारों का जखीरा अमृतसर के पास उतारा है। पंजाब पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान ने ड्रोन की मदद से आठ से ज्यादा बार हथियार भेजे गए हैं।

उन्होंने बताया कि यह ड्रोन काफी कम ऊंचाई पर उड़ाए जाते थे इसलिए इनके बारे में किसी को पता नहीं चल सका। अधिकारी का दावा है कि आतंकी पहले इन हथियारों को ड्रोन की मदद से जम्मू-कश्मीर में उतारना चाहते थे लेकिन उन्होंने इस बार इसके लिए पंजाब को चुनाव। बता दें कि पंजाब पुलिस ने कुछ दिन पहले खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के चार सदस्यों को भी गिरफ्तार किया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें