प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की भावनाओं, संभावनाओं, अपेक्षाओं,उम्मीदों और ग्रोथ स्टोरी और भारत के फ्यूचर डायरेक्शन पर रखी बात

न्यूयॉर्क। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय सात दिन के अमेरिकी दौरे पर हैं। पूरी दुनिया में अपनी छाप छोडऩे वाले PM मोदी यहां भी छाए हुए हैं। वे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी मिल चुके हैं। मोदी आज बुधवार को ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम को संबोधित करने यहां पहुंचे।

उन्होंने कहा कि इस फोरम ने मुझे भारत की भावनाओं, संभावनाओं, अपेक्षाओं और उम्मीदों पर तथा भारत की ग्रोथ स्टोरी और भारत के फ्यूचर डायरेक्शन पर अपनी बात रखने का अवसर दिया, इसके लिए मैं आपका बहुत आभारी हूं। आप लोग अपनी बातचीत में अक्सर बिजनस सेंटीमेंट की बात करते हैं। इस चुनाव में 130 करोड़ भारतीयों ने केवल अपना सेंटीमेंट ही नहीं जताया, बल्कि जजमेंट भी दे दिया है कि विकास ही उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

हमारी नई सरकार को अभी 3-4 महीने ही हुए हैं। मैं कहना चाहता हूं कि ये तो अभी शुरुआत हुई है। अभी लंबा समय आगे बाकी है, इस सफर में भारत के साथ पार्टनरशिप करने के लिए ये पूरे विश्व के बिजनेस वर्ल्ड के लिए सुनहरा मौका है।
टैक्स रिफॉर्म्स के अलावा दुनिया का सबसे बड़ा Financial Inclusion भी भारत में बहुत कम समय में हुआ है। करीब 37 करोड़ लोगों को बीते 4-5 साल में बैंकिंग से पहली बार जोड़ा गया है।

आज भारत के करीब-करीब हर नागरिक के पास यूनिक आईडी है, मोबाइल फोन और बैंक अकाउंट है। जिसके कारण Targeted Service Delivery में तेजी आई, लीकेज बंद हुई और transparency कई गुना बढ़ी है।

बीते 5 सालों में भारत में 286 बिलियन FDI हुआ है। ये बीते 20 साल में भारत के कुल FDI Inflow का आधा है। अमेरिका ने भी जितना FDI बीते दशकों में भारत में किया है, उसका 50% सिर्फ पिछले 4 वर्षों में हुआ है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें