विशाखापट्टनम के रसायन संयंत्र में गैस रिसाव से 11 लोगों की मौत, सरकार ने की मृतकों के परिजनों को एक करोड़ देने की घोषणा

नई दिल्ली। केंद्र ने बुधवार को कहा कि आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक रसायन संयंत्र में गैस रिसाव होने से 11 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 1,000 अन्य प्रभावित हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के महानिदेशकएस एन प्रधान ने कहा कि संयंत्र से रिसाव अब बहुत कम हो गया है लेकिन NDRF कर्मी इसे पूरी तरह से बंद करने तक मौके पर मौजूद रहेंगे। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि गैस रिसाव से अभी तक 11 लोगों की मौत हुई है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सदस्य कमल किशोर ने कहा कि संयंत्र के आसपास के इलाकों में रह रहे करीब 1,000 लोग गैस रिसाव से प्रभावित हुए हैं। प्रधान ने कहा कि संयंत्र के तीन किमी के दायरे से 200 से 250 परिवारों के लगभग 500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (DGP) डी गौतम सवांग ने बताया कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने हालात का जायजा लेने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की थी और मामले की जांच के आदेश दिए हैं। वहीं, मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी घटना पर करीब से निगाह रख रहे हैं। रेड्डी ने जिंदगियां बचाने और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हरसंभव कदम उठाने के लिए जिले के अधिकारियों से कहा है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने गैस लीक में जिन्दगी गंवा चुके मृतकों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए और वेंटीलेटर पर मौजूद लोगों को 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

इसे भी देखें